'चीनी सिस्‍टम' को पसंद करने वाले Imran Khan की पार्टी में नहीं 'लोकतंत्र', मिला नोटिस

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कुछ दिनों पहले ही पश्चिमी लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था के मुकाबले चीनी कम्‍युनिस्‍ट सिस्‍टम को बेहतर बताया था। अब चुनाव आयोग ने उन्‍हें पार्टी में आंतरिक चुनाव के मसले पर नोटिस मिला है।

'चीनी सिस्‍टम' को पसंद करने वाले Imran Khan को मिला नोटिस
'चीनी सिस्‍टम' को पसंद करने वाले Imran Khan को मिला नोटिस  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

मुख्य बातें

  • इमरान खान को पाकिस्‍तान चुनाव आयाग से नोटिस मिला है
  • पार्टी में चुनाव नहीं कराने के मसले पर उन्‍हें नोटिस दिया गया है
  • PAK PM ने कुछ दिनों पहले ही चीनी सिस्‍टम को अपनी पसंद बताया था

इस्लामाबाद : पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अभी हाल ही में चीन की एक दलीय कम्‍युनिस्‍ट शासन प्रणाली को अनूठा मॉडल करार देते हुए कहा था कि इसने उस अवधारणा को खत्‍म कर दिया है, जिसमें कहा जाता रहा है कि समाजों में सुधार का सबसे अच्‍छा तरीका पश्चिमी लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था को अपनाना है। चीनी सिस्‍टम को लेकर यह बयान देने वाले इमरान खान को अब अपनी ही पार्टी में लोकतंत्र नहीं होने को लेकर नोटिस मिला है।

पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने इमरान खान को उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ में निर्धारित समय के भीतर आंतरिक चुनाव नहीं कराने को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उन्‍होंने 14 दिनों के भीतर इसका जवाब देने हो गया है कि पार्टी में जो आंतरिक चुनाव 13 जून को ही होने थे, उसे अब तक क्‍यों नहीं कराया गया है। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस पार्टी के अध्‍यक्ष हैं और इस नाते उन्‍हें नोटिस जारी किए गए हैं।

इन पार्टियों को भी मिला नोटिस

'जियो न्यूज' की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान में सत्‍तारूढ़ इमरान खान की पार्टी के अतिरिक्‍त चुनाव आयोग ने दो अन्य पार्टियों को भी आंतरिक चुनाव नहीं कराने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है, जिनमें प्रतिबंधित तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान और बलूचिस्तान अवामी पार्टी शामिल है।

यहां उल्‍लेखनीय है कि पाकिस्‍तान चुनाव अधिनियम के तहत, सभी राजनीतिक पार्टियों को समय-समय पर अनिवार्य रूप से पार्टी में आंतरिक चुनाव कराना आवश्‍यक है। लेकिन चुनाव आयोग के नोटिस के अनुसार, इमरान खान 13 जून को पाकिस्‍तान चुनाव आयोग को पार्टी के अंदरूनी चुनावों का ब्यौरा देने में नाकाम रहे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर