Coronavirus China second wave: चीन में एक बार फिर कोरोना वायरस, मंगोलिया से सटे इलाकों में लॉकडाउन

मंगोलिया से सटे चीनी इलाकों में कोरोना केस के उभार के बाद लॉकडाउन लगाया गया है। जानकारों का कहना है कि चीन में करीब 2 साल बाद इतनी बड़ी संख्या में कोरोना केस का आना चिंता का विषय है।

Coronavirus China second wave. lockdown
चीन में एक बार फिर कोरोना वायरस, मंगोलिया से सटे इलाकों में लॉकडाउन  
मुख्य बातें
  • मंगोलिया से सटे इलाको में चीन ने लगाया लॉकडाउन
  • कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बाद चीन सरकार का फैसला
  • जानकारों का कहना है कि 2 साल के बाद कोरोना केस में इजाफा चिंता की बड़ी वजह

Coronavirus China second wave: क्या एक बार फिर कोरोना वायरस पूरी क्षमता के साथ वापसी कर रहा है, आखिर वो कौन सी वजह है जिससे चीन डरा हुआ है। कोरोना वायरस पर चीन नियंत्रण का दावा करता रहा है लेकिन जिस तरह से चीन और मंगोलिया से सटे इलाकों में कोरोना ने पांव पसारे हैं उसके बाद उन इलाकों में लॉकडाउन लगाया गया है और लोगों से अपील की गई है वो घरों से बाहर ना निकलें।  लॉकडाउन लगाने का फैसला अल्क्सा लेफ्ट बैनर में कथित तौर पर पिछले एक सप्ताह में चीन में रिपोर्ट किए गए 150 से अधिक कोविद -19 संक्रमणों में से लगभग एक-तिहाई के लिए जिम्मेदार है। 1.8 लाख की आबादी अल्क्सा लेफ्ट बैनर इलाका मंगोलिया की सीमा के पास है। 

​अल्क्सा लेफ्ट बैनर इलाके में लॉकडाउन
अल्क्सा लेफ्ट बैनर के प्रशासनिक प्रभाग एजिन बैनर के 35,700 निवासियों को घर पर रहने के लिए कहा गया है। एरेनहॉट शहर में भी इसी तरह के आदेश जारी किए गए हैं।चीनी राज्य प्रसारक सीसीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय सरकार ने आदेश का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ दीवानी और आपराधिक मामलों की चेतावनी दी है।

राज्य द्वारा संचालित ग्लोबल टाइम्स की एक अन्य रिपोर्ट ने सुझाव दिया कि इजिन बैनर में एक स्थानीय स्वास्थ्य आयुक्त सहित छह अधिकारियों को मौजूदा प्रकोप को रोकने में नाकाम रहने पर बर्खास्त कर दिया गया है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने चेतावनी दी थी कि उपन्यास कोरोनवायरस संक्रमण का मौजूदा प्रकोप सात दिनों की अवधि में 11 प्रांतों में फैल गया है। चीन में सोमवार को सामने आए संक्रमण के 38 नए मामलों में से आधे इनर मंगोलिया ऑटोनॉमस रीजन में हैं।

चीन ने 2 बिलियन डोज देने का किया है दावा
कोरोना वायरस का प्रकोप रोकने के लिए बीजिंग, गांसु, निंग्ज़िया और गुइझोउ सहित चीन के कुछ हिस्सों में यात्रा प्रतिबंध लगाए गए हैं। चुनिंदा प्रांतों में सभी ट्रेन सेवाओं और यात्राओं को भी अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है।एनएचसी के अधिकारी वू लियांगयौ ने बीजिंग में एक ब्रीफिंग में वर्तमान प्रकोप को अत्यधिक पारगम्य डेल्टा संस्करण के लिए जिम्मेदार ठहराया। इस साल की शुरुआत के बाद से चीन में कोविड-19 संक्रमण का यह तीसरा प्रकोप है।चीन में अधिकारियों ने अब स्थानीय प्रसारण के प्रसार को रोकने के लिए संपर्क ट्रेसिंग को तेज कर दिया है।इस साल अगस्त में, चीनी सरकार ने कोविड -19 टीकों की 2 बिलियन खुराक देने का दावा किया था।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर