दो महीने से लापता हैं चीन के अरबपति कारोबारी जैक मा, राष्ट्रपति जिनपिंग से टकराना पड़ा महंगा

दुनिया
किशोर जोशी
Updated Jan 04, 2021 | 13:28 IST

चीनी अरबपति और ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के मालिक जैक मा पिछले दो महीने से लापता हैं। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के निशाने पर आने के बाद से ही वह किसी को नहीं दिखे हैं।

Chinese Tech billionaire Jack Ma missing after criticising Xi jinping govt
चीन का अरबपति कारोबारी लापता,जिनपिंग से पंगा लेना पड़ा महंगा 

मुख्य बातें

  • चीन के राष्‍ट्रपति शी ज‍िनपिंग से व‍िवाद के बाद चीनी अरबपति जैक प‍िछले दो महीने से लापता
  • जैक मा के इस तरह गायब होने के बाद कई तरह के संदेह भी हो रहे हैं जाहिर
  • कुछ समय पहले ही एक सार्वजनिक कार्यक्रम में की थी चीनी सरकार की आलोचना

पेइचिंग: अलीबाबा जैसे ग्रुप के मालिक और चीन के तीसरे सबसे बड़े अरबपति कारोबारी जैक मा पिछले दो महीने से गायब हैं। टेक्नोलॉजी की दुनिया पर एकछत्र राज करने वाले जैक मा के गायब होने के पीछे कई तरह से संदेह जताया जा रहा है। पिछले दो महीने से किसी ने उन्हें नहीं देखा है और ना ही वो किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में नजर आए हैं। कुछ समय पहले एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से चीनी सरकार की आलोचना की थी।

क्या कहा था भाषण में
जैक मा ने पिछले साल शंघाई में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान चीन के सरकारी बैंकों और 'ब्याजखोर' वित्तीय नियामकों की तीखी आलोचना की थी। एक मोटिवेशनल स्पीकर के रूप में भी चर्चित जैक मा ने जिनपिंग सरकार से आग्रह किया था कि इस तरह की प्रणाली में बदलाव किया जो व्यापार में नए प्रयासों को दबाने का प्रयास करते हैं। उन्होंने वैश्विक बैंकिंग नियमों को 'बुजुर्गों लोगों का क्‍लब' करार दिया था।

भाषण से भड़क गई थी सरकार
द वॉल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार, इस भाषण के बाद चीन की कम्युनिस्ट सरकार ने जैक मा के खिलाफ कदम उठाने शुरू कर दिए। बीजिंग में अधिकारियों ने नवंबर माह के दौरान राष्ट्रपति शी के सीधे आदेश पर अपने उनके एंट ग्रुप के 37 अरब डॉलर के आईपीओ को निलंबित कर दिया। इतना ही नहीं उनके अन्य बिजनेस के खिलाफ असाधारण प्रतिबंध लगाया जाना शुरू कर दिया गया। इसके बाद चीनी सरकार ने सीधे आदेश दिया कि जब तक अलीबाबा ग्रुप के खिलाफ जांच पूरी नहीं हो जाती है उन्हें देश से बाहर ना जाने दिया जाए।

हुआ ये नुकसान
डेली मेल यूके की रिपोर्ट के अनुसार, एंटी-मोनोपॉली जांच के कारण अलीबाबा के शेयरों में अक्टूबर के भाषण के तुरंत बाद एक चौथाई की गिरावट आई थी और उन्हें 10 बिलियन डॉलर से अधिक का नुकसान हुआ था। इसके परिणामस्वरूप जैक मा चीन के सबसे धनी लोगों की सूची में तीसरे नंबर पर खिसक गए जबकि उनसे आगे पिंडुओदुओ के मुख्य कार्यकारी कोलिन हुआंग और टोंस होल्डिंग्स के पोनी मा हुआतेंग थे। 


शो से हटी तस्वीरें
गायब होने के बाद से जैक मा अपने टीवी शो 'अफ्रीका बिजनस हीरोज' के शो से भी हट गए हैं। इसके लिए बकायदा अलीबाबा ग्रुप ने एक प्रेस रिलीज जारी कर जानकारी दी है। सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले मा के ट्विटर अकाउंट से पिछले काफी लंबे समय से कोई ट्वीट नहीं किया गया है जबकि वह पहले लगातार ट्वीट करते रहते थे।

पहली बार गायब नहीं हुआ है कोई कारोबारी

चीन में यह पहली बार नहीं है जब कोई कारोबारी या अन्य शख्स गायब हुआ हो। 2017 में चीन के कुख्यात भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के दौरान कई अरबपति गायब हो गए थे। इतना ही नहीं पिछले दिनों ही एक पत्रकार जिसने कोरोना को लेकर चीन का असली चेहरा दुनिया के सामने रखना चाहा उसे जेल में डाल दिया गया। वुहान में कोरोना वायरस का खुलासा करने वाले डॉक्टर की पिछले साल संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इसके अलावा भी कई ऐसे लोग हैं जिन्हें चीनी सरकार की आलोचना करने पर खामियाजा भुगतना पड़ा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर