चीन ने अमेरिकी नेवल बेस पर हमले का नकली वीडियो किया जारी, H-6 बॉम्बर से किया हमला

चीन की वायुसेना ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें देखा जा सकता है कि परमाणु क्षमता से संपन्न H 6 बॉम्बर अमेरिकी नौसैनिक बेस गुआम पर हमला करता है। ये एक नकली वीडियो है।

china video
चीन की वायुसेना ने जारी किया वीडियो 

मुख्य बातें

  • चीन की तरफ से लगातार प्रोपैगेंडा वीडियो जारी किए जाते हैं
  • इस बार अमेरिकी ठिकानों पर बमबारी का वीडियो जारी किया है
  • परमाणु क्षमता से लैस एच-6 बॉम्बर से ये अटैक किया जाता है

नई दिल्ली: चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है। वो प्रोपैगेंडा फैलाने का कोई मौका नहीं छोड़ता है। अब उसने अमेरिका को सीधे चुनौती देते हुए एक नकली वीडियो जारी किया है। चीन की वायु सेना ने परमाणु सक्षम H-6 बॉम्बर्स को दिखाते हुए एक वीडियो जारी किया है, जो प्रशांत महासागर में स्थिति अमेरिकी नौसैनिक बेस गुआम पर एक नकली हमले को अंजाम देता है। यहां क्षेत्रीय तनाव बढ़ रहा है। ये वीडियो पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयरफोर्स के वीबो अकाउंट पर शनिवार को जारी किया गया। गुआम एयरबेस सहित प्रमुख अमेरिकी सैन्य सुविधाओं का ठिकाना है, जो एशिया प्रशांत क्षेत्र में किसी भी संघर्ष का जवाब देने के लिए महत्वपूर्ण होगा।

चीनी वायु सेना का 2 मिनट 15 सेकंड का ये वीडियो हॉलीवुड फिल्म के ट्रेलर की तरह लगता है। इसमें देखा जाता है कि H-6 बॉम्बर एक रेगिस्तानी बेस से उड़ान भरता है। आधे रास्ते से पायलट एक बटन दबाता है और इसके बाद मिसाइल अटैक हो जाता है। मिसाइल रनवे से टकराती है और इसका सैटेलाइट चित्र दिखाया गया है। इसमें यह रनवे गुआम के एंडरसन एयरफोर्स बेस की तरह दिखाई देता है, हालांकि इसका नाम नहीं है।

PLAAF ने वीडियो के साथ एक संक्षिप्त विवरण में लिखा है, 'हम मातृभूमि की हवाई सुरक्षा के रक्षक हैं; हमारे पास  हमेशा मातृभूमि की आसमान में सुरक्षा का भरोसा और क्षमता है।'

न तो चीन के रक्षा मंत्रालय और न ही अमेरिकी इंडो-पैसिफिक कमांड ने वीडियो पर की है। ताइवान की वायु सेना के अनुसार, H-6 ताइवान और उसके आसपास कई चीनी उड़ानों में शामिल रहा है। H-6K बॉम्बर का नवीनतम मॉडल है, जो 1950 के पुराने सोवियत TU-16 पर आधारित है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर