पड़ोसियों से उलझने वाले एक नेता की दिलचस्‍प प्रेम कहानी, जब चंद मिनटों में दिल हार बैठे थे शी जिनपिंग

चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की गिनती दुनिया में 'विस्‍तारवाद' की आकांक्षा रखने वाले और घरेलू राजनीति में विरोध‍ियों को कुचलने वाले नेता के तौर पर होती है। पर उनकी प्रेम कहानी बेहद दिलचस्‍प है। 

पड़ोसियों से उलझने वाले एक नेता की दिलचस्‍प प्रेम कहानी, जब चंद मिनटों में दिल हार बैठे थे शी जिनपिंग
पड़ोसियों से उलझने वाले एक नेता की दिलचस्‍प प्रेम कहानी, जब चंद मिनटों में दिल हार बैठे थे शी जिनपिंग  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

बीजिंग : चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग का नाम लेते ही जो छवि मन में कौंधती है, वह पड़ोसियों से उलझने वाले और दुनिया में धाक जमाने वाले एक 'विस्‍तारवादी' नेता की होती है। चीन के कम्‍युनिस्‍ट शासन में उनकी गिनती विरोध‍ियों को कुचलने और शिनजियांग में उइगर मुसलमानों के साथ-साथ हांगकांग को लेकर सख्‍त नीतियां बनाने वाले नेता की रही है। लेकिन घरेलू राजनीति में 'सख्‍त मिजाज', वैश्विक राजनीति में 'विस्‍तारवादी' और अपने आलोचकों के लिए 'दमनकारी' समझे जाने वाले इस वैश्विक नेता का प्रेम प्रसंग बेहद दिलचस्‍प है।

चीन की घरेलू राजनीति में शी जिनपिंग और उनकी पत्‍नी पेंग लियुआन को आदर्श दंपति के तौर पर देखा जाता है तो अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया में भी चीन की प्रथम महिला अपने फैशन सेंस और कई अन्‍य कारणों से खूब चर्चा बटोरती हैं। जिनपिंग की पत्‍नी पेंग लियुआन एक लोकगायिका हैं। उन्‍होंने पहली बार 1982 में न्‍यू ईयर के मौके पर प्रस्‍तुति दी थी, जिसका थीम 'ऑन द प्‍लेंस ऑफ होप' था। इसने चीन में उन्‍हें एक बड़ी पहचान दी, जिससे शी जिनपिंग भी प्रभावित हुए बिना न रह सके।

2014 के भारत दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ शी जिनपिंग और उनकी पत्‍नी पेंग लियुआन
2014 के भारत दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ शी जिनपिंग और उनकी पत्‍नी पेंग लियुआन

40 मिनट में शादी का फैसला

पेंग लियुआन और शी जिनपिंग की मुलाकात 1980 के दशक में उनके एक कॉमन फ्रेंड के जरिये हुई थी। बताया जाता है कि पहली मुलाकात में पेंग को शी जिनपिंग कुछ खास पसंद नहीं आए थे, लेकिन जिनपिंग के दिल पर चंद मिनटों में ही पेंग का राज हो गया था और उन्‍होंने 40 मिनट के भीतर यह समझ लिया था, जिसकी तलाश उन्‍हें थी, वह मिल गई हैं। इसके बाद उन्‍होंने मन ही मन उनसे शादी का फैसला भी कर लिया था, जो हकीकत में 1987 में साकार हुआ। इसके बाद 1992 में वे बेटी शी मिंग्ज के माता-पिता बने।

शी जिनपिंग की यह दूसरी शादी थी। इससे पहले उनका पहली पत्‍नी से तलाक हो चुका था। पेंग लियुआन की गिनती आज दुनिया की प्रभावी प्रथम महिलाओं में की जाती है। चीनी प्रशासन में भी उनकी अहम भूमिका है और दुनियाभर में चीन को 'साफ्ट पावर' के तौर पर पेश करने में भी वह एकमहत्‍वपूर्ण चेहरा हैं। विदेश दौरों के दौरान जब वह शी जिनपिंग के साथ होती हैं तब उनके फैशन सेंस, उनके कपड़ों की खूब चर्चा होती है। वह आधुनिक चीनी महिला का प्रतिनिधित्‍व करती हैं। उन्‍हें चीन की सबसे फैशनेबल फर्स्‍ट लेडी के तौर पर भी जाना जाता है।

उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और उनकी पत्‍नी के साथ शी जिनपिंग और पेंग लियुआन
उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और उनकी पत्‍नी के साथ शी जिनपिंग और पेंग लियुआन

आधुनिक चीन की रसूखदार महिला

आधुनिक चीन के निर्माता माओत्से तुंग की पत्नी जियांग किंग के बाद पेंग लियुआन चीन के हालिया राजनीतिक इतिहास में दूसरी सर्वाधिक रसूख वाली महिला के तौर पर देखी जाती हैं। शानडोंग प्रांत के युनछेंग काउंटी की रहने वाली पेंग का जन्‍म 20 नवंबर, 1962 को हुआ था, जिन्‍होंने 1980 के दशक में महज 18 वर्ष साल की उम्र में पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी ज्‍वॉइन कर ली थी। संगीत में रुचि और बेहतरीन गायिका होने की वजह से 1979 में चीन-वियतनाम संघर्ष के दौरान उन्‍हें संगीत के जरिये चीनी सैनिकों का मनोबल बढ़ाने का जिम्मा भी सौंपा गया था। 
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर