पाक के लिए सिरदर्द बना चीन का टीका, सिनोफार्म को मान्यता नहीं दे रहे सऊदी, खाड़ी के देश 

पाकिस्तान में चीन का टीका सिनोफार्म लगाया जा रहा है लेकिन सऊदी अरब सहित मध्य पूर्व के कई देश इस टीके को स्वीकार नहीं कर रहे हैं। इससे पाकिस्तानी नागरिकों के लिए समस्या खड़ी हो गई है।

China covid-19 vaccine creates problem for Pakistan Saudi not accepting Sinopharm
पाक के लिए सिरदर्द बना चीन का टीका, सिनोफार्म को मान्यता नहीं दे रहा सऊदी। 

मुख्य बातें

  • पाकिस्तान में लग रहा है चीन की ओर से निर्मित कोरोना टीका सिनोफार्म
  • इस टीके को सऊदी अरब सहित मध्य पूर्व के देश नहीं दे रहे मान्यता
  • बहरीन में सिनोफार्म लगने के बाद बड़ी संख्या में लोग फिर हुए संक्रमित

इस्लामाबाद : चीन (China) का कोरोना टीका सिनोफार्म (Sinopharm) पाकिस्तान (Pakistan) के लिए सिरदर्दी बन गया है। दरअसल, सऊदी अरब (Saudi Arab) सहित खाड़ी के कई देश चीन के इस टीके को अपनी मान्यता नहीं दे रहे हैं। इससे हज यात्रा, कारोबार और पढ़ाई के लिए वहां जाने वाले लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) इस मसले को प्राथमिकता के साथ खाड़ी देशों के साथ उठा रहे हैं। खास बात है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चीन निर्मित इस टीके को मान्यता दी है लेकिन खाड़ी के कई देश इसे एक कमजोर टीका मान रहे हैं। 

मध्य पूर्व के देशों के साथ संपर्क में इमरान खान
वेबसाइट डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक गृह मंत्री शेख राशिद अहमद ने रविवार को कहा कि खुद प्रधानमंत्री इमरान खान सऊदी अरब और मध्य पूर्व के देशों के साथ इस मसले को देख रहे हैं। पत्रकारों के साथ बातचीत में राशिद ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कैबिनेट के अपने सहयोगियों को बताया है कि वह इस मामले में संबंधित देशों के साथ संपर्क में हैं। सऊदी अरब मध्य पूर्व के उन देशों में शामिल है जिन्होंने चीन के कोरोना टीकों को अपनी मान्यता नहीं दी है। चीन ने अपने कोरोना टीकों सिनोफार्म और सिनेवैक को पाकिस्तान सहित अन्य देशों में भेजा है। 

सिनोफॉर्म को स्वीकार नहीं कर रहा सऊदी अरब 
रिपोर्टों के मुताबिक सऊदी अरब में फाइजर, एस्ट्राजेनेका, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन का टीका लग रहा है। इमरान सरकार में योजना एवं विकास मंत्री असम उमर ने कहा है कि ऐसे लोग जो हज यात्रा पर या पढ़ाई के लिए विदेश जाना चाहते हैं ऐसे लोगों को प्राथमिकता के आधार पर फाइजर का टीका लगाया जाएगा। मंत्री ने आगाह करते हुए कहा कि चीन के टीकों को मान्यता नहीं देने से पूरी दुनिया के लिए एक समस्या खड़ी हो जाएगी। इसलिए जरूरी है कि देश जल्दी इसके समाधान ढूंढे।

बहरीन में फिर संक्रमित हुए लोग
उन्होंने कहा, 'यदि देश अपनी पसंद का टीका लगवाए हुए लोगों को अपने यहां आने की अनुमति देंगे तो पूरी दुनिया के सामने समस्या पैदा होगी।' मंत्री ने कहा कि चीन निर्मित कोरोना टीके सबसे ज्यादा नियार्त होने वाले टीकों में शामिल हैं। गृह मंत्री शेख राशिद ने रविवार को कहा, 'सिनोफार्म बहुत अच्छा टीका है।' 'द वॉल स्ट्रीट जर्नल' की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि बहरीन में चीनी वैक्सीन बड़े स्तर पर लगाई गई लेकिन यहां टीका लगवा चुके लोगों में बड़ी संख्या में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया।   


   
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर