पाकिस्तान ने भारतीय मछुआरों पर की गोलीबारी? नाव सहित 8 मछुआरे पाकिस्तान के कब्जे में

पाकिस्तान ने भारतीय मछुआरों और उनकी एक नाव को अपने कब्जे में ले लिया है। भारतीय मछुआरों पर पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी द्वारा गोलीबारी की भी अपुष्ट खबर है।

An Indian fishing boat, Al Kirmani has been apprehended by Pakistan Maritime Security Agency
प्रतीकात्मक तस्वीर 
मुख्य बातें
  • पाकिस्तान ने भारतीय मछुआरों की नाव को लिया कब्जे में
  • नाव में सवार आठ मछुआरे भी पाकिस्तान के कब्जे में
  • पाकिस्तान द्वारा मछुआरों पर गोलीबारी की खबरों का लगाया जा रहा है पता

नई दिल्ली: पाकिस्तान समुद्री सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार देर रात पाकिस्तान के साथ सटी समुद्री सीमा के पास एक भारतीय मछली पकड़ने वाली नाव, अल किरमानी को अपने कब्जे में ले लिया। इसमें सवार आठ चालक दल भी पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी की गिरफ्त में हैं। सरकारी सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तानी एजेंसियों द्वारा भारतीय मछुआरों पर गोलीबारी की खबरों का पता लगाया जा रहा है। फिलहाल इस खबर के विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है।

कुछ दिन पहले पकड़ी गई थी पाकिस्तानी नाव

आपको बता दें कि कि कुछ दिन पहले ही सीमा सुरक्षा बल यानि बीएसएफ ने गुजरात के भुज में एक पाकिस्तान नाव जब्त कर लिया था। बीएसएफ ने बताया कि 4 मई को सुबह 11.15 बजे बीएसएफ भुज गश्ती दल ने हरामी नाला में बीपी नंबर 1158 के पास पाकिस्तानी नाव की गतिविधियां देखीं जिसमें 3-4 पाकिस्तानी मछुआरे बैठे थे। बीएसएफ के गश्ती दल को देखकर पाकिस्तानी मछुआरे अपनी नाव छोड़कर दलदली इलाके का फायदा उठाकर भाग गए।
बल ने बताया कि इसके बाद मौके पर पहुंचे जवानों को नाव में मछली, मछली पकड़ने के जाल और अन्य उपकरण मिले, लेकिन वहां कुछ भी संदिग्ध नहीं देखा गया। बयान में कहा गया है कि इंजन रहित नाव की जब्ती के बाद क्षेत्र में चलाए गए तलाशी अभियान के दौरान कोई अन्य नाव नहीं मिली।

आपको बता दें कि हरामी नाला क्रीक भारत और पाकिस्तान को अलग करती है। इसका दलदली इलाका मछली की कई किस्मों का घर है और पड़ोसी देश के मछुआरों को आकर्षित करता है। पड़ोसी देश के मछुआरे इस क्षेत्र में नियमित अंतराल पर बीएसएफ द्वारा भारत के अधीन आने वाली नदी में प्रवेश करने के बाद पकड़े जाते हैं।

Gujarat: पाकिस्तानी मरीन कमांडो ने भारतीय नाव पर की फायरिंग, एक मछुआरे की मौत और 6 का किया अपहरण

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर