बिडेन प्रशासन में इन 20 भारतवंशियों का होगा जलवा, व्हाइट हाउस में मिली है अहम जिम्मेदारी  

Jo Biden swearing in : अमेरिका के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह से पहले इतनी बड़ी संख्या में भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों को उनकी जिम्मदारियां दे दी गई हैं।

20 Indian-Americans get key roles in Joe Biden administration
भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों को ह्वाइट हाउस में मिली है अहम जिम्मेदारी। 

नई दिल्ली : जो बिडेन कल यानि बुधवार को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे। अमेरिका के इस नए राष्ट्रपति ने अपने प्रशासन की टीएम तैयारी कर ली है। खास बात है कि व्हाइट हाउस प्रशासन के अहम पदों पर कम से कम 20 भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक तैनात होंगे। इनमें करीब 13 महिलाएं हैं जो महत्वपूर्ण पदों पर अपनी जिम्मेदारी निभाती नजर आएंगी। बिडेन प्रशासन में इतनी बड़ी संख्या में भारतीय मूल के लोगों की नियुक्ति एक रिकॉर्ड बनने जा रही है। इनमें से भारतीय मूल के 17 अमेरिकी नागरिक व्हाइट हाउस के प्रशासन को देखेंगे।

उप राष्ट्रपति पद की शपथ लेने वाली कमला हैरिस (56) भारतीय मूल की पहली अफ्रीकी अमेरिकी नागरिक हैं। अमेरिका के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह से पहले इतनी बड़ी संख्या में भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों को उनकी जिम्मदारियां दे दी गई हैं। आइए एक नजर डालते हैं उन भारतवंशियों पर जो आने वाले समय में बिडेन सरकार का कामकाज संभालते नजर आएंगे-

  1. नीरा टंडन-बिडेन सरकार में नीरा टंडन को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। टंडन को व्हाइट हाउस आफिस के मैनेजमेंट एवं बजट का निदेशक बनाया गया है। 
  2. विवेक मूर्ति-यूएस के सर्जन जनरल।
  3. वनिता गुप्ता-एसोसिएट जनरल डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस।
  4. उजरा जेया-सिविलयन सेक्युरिटी, डेमोक्रेसी, ह्यूमन राइट्स की अंडर सेक्रेटरी।
  5. माला अडिगा-बिडेन की पत्नी जिल की पॉलिसी डाइरेक्टर।
  6. गरिमा वर्मा-जिल बिडेन के ऑफिस की डिजिटल डाइरेक्टर।
  7. सबरीना सिंह-जिल बिडेन की डेप्युटी प्रेस सचिव।
  8. आइशा शाह-व्हाइट हाउस डिजिटल स्ट्रेटजी की पार्टनरशिप मैनेजर।
  9. समीरा फजिली-यूएस नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल में डेप्युटी डाइरेक्टर।
  10. भरत राममूर्ति-व्हाइट हाउस नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल के डेप्युटी डाइरेक्टर।
  11. गौतम राघवन-व्हाइट हाउस के प्रेसिडेंसियल पर्सनल विभाग में डेप्युटी डाइरेक्टर।
  12. विनय रेड्डी- डाइरेक्टर स्पीचराइटिंग।
  13. वेदांत पटेल-राष्ट्रपति के असिस्टेंट प्रेस सेक्रेटरी।
  14. तरुण छाबड़ा-प्रौद्योगिकी एवं राष्ट्रीय सुरक्षा पर वरिष्ठ निदेशक।
  15. सुमोना गुहा-दक्षिण एशिया के लिए सीनियर डाइरेक्टर।
  16. शांति कलाथिल-लोकतंत्र एवं मानवाधिकार की संयोजक।
  17. सोनिया अग्रवाल-जलवायु नीति एवं नवाचार पर वरिष्ठ सलाहकार। 
  18. विदुर शर्मा-कोविड रिस्पांस टीम में पॉलिसी एडवाइजर।
  19. नेहा गुप्ता-व्हाइट हाउस में एसोसिएट काउंसिल। 
  20. रीमा शाह-व्हाइट हाउस में डेप्युटी एसोसिएड काउंसिल।

बिडेन ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान वादा किया था कि राष्ट्रपति बनने पर वह अपने प्रशासन में बड़ी संख्या में भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों को शामिल करेंगे। अब वह अपने वादे पर खरे उतरते दिख रहे हैं। व्हाइट हाउस प्रशासन में इतनी बड़ी संख्या में भारतीय मूल के लोगों का पहुंचना यह दर्शाता है कि इस समुदाय ने सामूदायिक सेवा के क्षेत्र में जो योगदान दिया है उसे एक पहचान दी गई है। बिडेन प्रशासन में भारतीय मूल के नागरिकों के अलावा दक्षिण एशिया के तीन लोगों को भी अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है। पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिक अली जैदी को व्हाइट हाउस में डेप्युटी नेशनल क्लाइमेट एडवाइजर,  श्रीलंका मूल की अमेरिकी रोहिणी कोसोग्लू को उप राष्ट्रपति के लिए डॉमेस्टिक पॉलिसी एडवाइजर और बांग्लादेशी मूल के जयान सिद्दिकी को व्हाइट हाउस डेप्युटी चीफ ऑफ स्टाफ का सीनियर एडवाइजर बनाया गया है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर