Chingari App: क्या है टिक टॉक का देसी वर्जन Chingari App, कैसे करें डाउनलोड और इस्तेमाल

टिक टॉक के बैन किए जाने पर भारत में इसके देसी वर्जन निकाले जा रहे हैं। मित्रों के बाद अब इंटरनेट पर चिंगारी एप की पॉपुलैरिटी तेजी से बढ़ रही है जो चाइनीज एप टिक टॉक की तर्ज पर काम करता है।

how to use chingari app
चिंगारी एप 

मुख्य बातें

  • टिक टॉक का देसी वर्जन चिंगारी एप गूगल प्ले स्टोर पर सामने आया है
  • इसके पहले मित्रों एप ने भी खूब लोकप्रियता बटोरी थी
  • भारत सरकार ने टिक टॉक एप सहित 59 चाइनीज एप्स पर भारत में रोक लगा दी है

भारत में चाइनीज एप टिक टॉक को लेकर जब से विवाद उठा है तब से ही इसे बैन करने को लेकर तेजी से मांग उठने लगी थी। इसी बीच में भारत में टिक टॉक के जैसे ही भारतीय एप भी आने शुरू हो गए थे। हालांकि भारत सरकार ने अब पूरी तरह से टिक टॉक एप को भारत में बैन कर दिया है। मित्रों एप के बाद अब चिंगारी एप की तेजी से पॉपुलैरिटी बढ़ रही है। टिक टॉक एक शॉर्ट वीडियो शेयरिंग सोशल मीडिया एप है जिस पर यूजर्स कुछ सेकेंड की वीडियो बनाकर अपलोड करते थे और जिस पर लाखों करोड़ों में व्यूज मिलते थे।

इसी टिक टॉक के जरिए भारत में कई लोगों को लोकप्रियता मिली लोग सेलिब्रिटी बन गए। इसके जरिए लोग अपना हुनर दुनिया के सामने रखते थे। इसी की तर्ज पर भारत में अब चिंगारी एप लाया गया है। इसे टिक टॉक का देसी वर्जन कहा जा रहा है। चिंगारी एप पर यूजर्स वीडियो डाउनलोड कर सकते हैं अपलोड कर सकते हैं, फ्रेंड्स के साथ चैट कर सकते हैं, नए लोगों के साथ इंटरैक्ट कर सकते हैं, कंटेंट शेयर कर सकते हैं साथ ही फीड के जरिए नई-नई चीजों को ब्राउज कर सकते हैं।

25 लाख से भी ज्यादा डाउनलोड

खबर लिखे जाने तक चिंगारी एप को एक मिलियन से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका था। रिपोर्ट के मुताबिक महज 15 दिनों के भीतर इस एप को इतना ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका था। इस पर यूजर्स व्हाट्सएप स्टेटस, वीडियो, ऑडियो क्लिप्स, जीआईएफ स्टिकर्स और फोटोज इस पर अपलोड कर सकते हैं। यह एप अंग्रेजी समेत 10 भाषाओं में गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है।

एप हिंदी, बांग्ला, गुजराती, मराठी, कन्नड़, पंजाबी, मलयालम, तमिल और तेलुगू भाषा को सपोर्ट करता है। बताया जाता है कि लॉन्च होने के साथ ही एप की पॉपुलैरिटी तेजी से बढ़ी है इसके साथ-साथ इसका ग्रोथ भी उसी दर से बढ़ा है। ऑनलाइन रिपोर्ट के मुताबिक यह एप बेंगलुरू के एक डेवलपर बिस्वात्मा नायक और सिद्धार्थ गौतम के द्वारा के द्वारा बनाया गया है।

कैसे करें इस्तेमाल
इसे इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर में जाकर इसे डाउनलोड करना होगा।
अब यहां जाकर अपना मोबाइल नंबर और नाम डालकर रजिस्टर करना होगा।
अब यहां से आपको एक कोड मिलेगा वो एंटर करने पर आप सीधे एप के होमपेज पर चले जाएंगे।
होमपेज पर आपको टॉप में तीन ऑप्शन दिखेंगे- वीडियो, ट्रेंडिंग और फीड्स
यहां से आप वीडियो में जाकर वीडियोज देख सकते हैं।
साथ ही अगर आप वीडियो कोई पोस्ट करना चाहते हैं तो आपको क्रिएट पोस्ट पर जाना होगा।
 

लोकप्रियता से अभिभूत- एप डेवलपर

इस एप की लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि गूगल प्ले स्टोर पर ये ट्रेंडिंग चार्ट में पांचवें नंबर पर ट्रेंड कर रहा है। चिंगारी एप के डेवलपर नाक ने HT से बात करते हुए बताया कि यूजर्स से मिल रही प्रतिक्रियाओं से वे अभिभूत हैं। उन्होंने कहा कि जब हमने देखा कि भारत में लोग चाइनीज सामानों का बहिष्कार कर देसी सामानों के उपयोग पर जोर देने की बात करने लगे तब हमें टिक टॉक के देसी वर्जन पर काम करने का आइडिया आया। अब हमें जिस तरह की इस पर ट्रैफिक मिल रही है उसकी हमें उम्मीद भी नहीं थी। अपने कस्टमर्स को खुश करना, उन्हें एंटरटेन करना और उन्हें सैटिस्फाई करने का अनुभव बेहद सुखद है। 

जल्द ही फ्री-ऑफ-कॉस्ट होगा उपलब्ध

उन्होंने बताया कि हम इस एप को और भी ग्रोथ देने के बारे में सोच रहे हैं इस पर जल्द ही कई नए फीचर्स लॉन्च किए जाएंगे। अब चूंकि चिंगारी ने बड़ी ही तेजी से पॉपुलैरिटी पाई है तो इसकी लोकप्रियता की आड़ में अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए कई बड़ी कंपनियां इसमें निवेश करने को लेकर अपनी रुचि दिखा रहा है। कंपनी के को-फाउंडर ने बताया कि हम इन्वेस्टमेंट को लेकर कई बड़े निवेशकों से चर्चा कर रहे हैं और जल्द ही एक अच्छी डील पर पहुंचने की उम्मीद है ताकि इस एप को कस्टमर्स के बीच फ्री ऑफ कॉस्ट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के रुप में पेश कर सकें। 

अगली खबर