Chinese Apps Ban [Full List]: सरकार का कड़ा कदम, यहां देखें बैन की गई चीनी ऐप्स की पूरी सूची

Full List of Chinese apps banned in India: भारत सरकार ने सोमवार को बड़ा कदम उठाते हुए सोमवार को 59 चीनी ऐप्स पर रोक लगा दी। सरकार का कहना है कि ये ऐप्स संदिग्ध गतिविधियों में लिप्त थे।

Digital Strike by India amid LAC Tensions, Govt banned Chinese apps, check the full list here
59 चीनी ऐप पर भारत सरकार का प्रतिबंध 

मुख्य बातें

  • 59 चीनी ऐप्स पर भारत सरकार ने लगाई रोक
  • यूसी ब्राउजर,टिक टॉक, शेयर इट, हेलो एप शामिल
  • भारत सरकार ने चीनी उत्पादों के बहिष्कार की अपील की है

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ जारी तनाव एवं गतिरोध के बीच बीजिंग को कड़ा संदेश देने के लिए भारत सरकार ने सोमवार को कड़ा कदम उठाया। भारत ने टिक टॉक सहित कम से कम 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया है। खास बात यह है कि भारत की ओर से यह सख्त कदम ऐसे समय उठाया गया है जब मंगलवार को दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच सीमा पर बैठक होनी है। सरकार ने जिन ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया है उनमें टिक टॉक के अलवा, यूसी ब्राउजर, वीचैट, शेयरइट एवं कैम स्कैनर प्रमुख रूप से शामिल हैं। अपने इस कदम के बारे में सरकार का कहना है कि ये ऐप्स ' भारत की संप्रभुता को खतरा पहुंचाने वाले गतिविधियों में लिप्त थे।'

इन ऐप्स पर लगी है पाबंदी,
टिक टॉक, शेयर इट, केवाई, यूसी ब्राउजर, बाइदू ऐप, शीन, क्लैश ऑफ किंग्स, डीयू बैटरी सेवर, हेलो, लाइकी, यूकैम मेकअप, माइ कम्यूनिटी, सीएम ब्राउजर्स, वायरस क्लीनर, एपस ब्राउजर, रोमवे, क्लब फैक्ट्री, न्यूज डॉग, ब्यूट्री प्लस, वी चैट, यूसी न्यूज, क्यूक्यू मेल, वीबो, जेंडर, क्यूक्यू म्यूजिक, क्यू क्यू न्यूजफीड, बिगो लाइव, सेल्फी सिटी, मेल मास्टर, पैरलेल स्पेस


इन ऐप्स पर भी लगी है पाबंदी
माई वीडियो कॉल-शाओमी, वी सिंक, ईएस फाइल एक्सप्लोरर, वीवा वीडियो- क्यू वीडियो इंक, मीटू, वीगो वीडियो, न्यू वीडियो स्टेट्स, डीयू रिकॉर्डर, वाल्ट हाइड, कैशे क्लीनर डीयू एप स्टूडियो, डीयू क्लीनर, डीयू ब्राउजर, हैगो प्ले विद न्यू फ्रेंड्स, कैम स्कैनर, क्लीन मास्टर- चीता मोबाइल, वंडर कैमरा, फोटो वंडर,क्यू क्यू प्लेयर, वी मीट, स्वीट सेल्फी, बाइदू ट्रांसलेट, वी मेट, क्यू क्यू इंटरनेशनल, क्यू क्यू सेक्यूरिटी सेंटर, क्यू क्यू लॉंचर, यू वीडियो, वी फ्लाइ स्टेट्स वीडियो, मोबाइल लीजेंड्स, डीयू प्राइवेसी।

अगली खबर