Strawberry Supermoon 2021: आज दिखाई देगा स्ट्रॉबेरी सुपर मून, बेहद खास होगा नजारा, होगा साल का आखिरी सुपर मून

Strawberry Supermoon 2021: आज यानी 24 जून को पूर्णिमा है। आज सुपरमून दिखाई देगा। इस दिन चंद्रमा अन्य दिनों की तुलना में थोड़ा बड़ा दिखाई देगा क्योंकि इस समय चंद्रमा पहले की तुलना में पृथ्वी से नजदीक होता है।

supermoon
फाइल फोटो 

मुख्य बातें

  • स्ट्राबेरी मून जून संक्रांति के बाद पहली पूर्णिमा को 24 जून को दिखाई देगा
  • इस फूल मून को दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है
  • यूरोप में इसे रोज मून कहा जाता है और यह गुलाब की कटाई को दर्शाता है

Strawberry Supermoon 24 June: दुनिया में सुपरमून, ब्लडमून, चंद्र ग्रहण के बाद रिंग ऑफ फायर सूर्य ग्रहण के लगभग एक महीने बाद रात के आकाश में एक और खगोलीय घटना घटित होने वाली है। इस बार दिखाई देने वाला है स्ट्राबेरी मून। स्ट्रॉबेरी सुपरमून आज यानी 24 जून को दिखाई देगा। ग्रीष्म संक्रांति के बाद स्ट्रॉबेरी मून पहली पूर्णिमा है। ये साल का आखिरी सूपर मून है। अगला सुपर मून 14 जून 2022 को होगा।

घटना के दौरान, चंद्रमा अपनी कक्षा में पृथ्वी के सबसे करीब होगा। नासा का दावा है कि तब भी प्राकृतिक उपग्रह पिछले तीन पूर्ण चंद्रमाओं की तुलना में अधिक दूर होगा। हालांकि इसे स्ट्रॉबेरी मून के रूप में जाना जाता है, लेकिन यह वास्तव में लाल या गुलाबी नहीं दिखाई देगा।

स्ट्रॉबेरी मून को 'हॉट मून', 'रोज मून' और 'हनी मून' जैसे अन्य नामों से जाना जाता है। वास्तव में, कई लोगों का मानना है कि हनीमून शब्द की उत्पत्ति इसी से हुई है, जिसके दौरान सबसे अधिक शादियों की सूचना दी जाती है। खगोलीय घटना को इसका नाम प्राचीन अमेरिकी जनजातियों से मिला है जिन्होंने स्ट्रॉबेरी के लिए कटाई के मौसम की शुरुआत के साथ पूर्णिमा को चिह्नित किया था। 

चंद्रमा को पृथ्वी के चारों ओर एक चक्कर पूरा करने में लगभग 29.5 दिन लगते हैं, जिसके दौरान यह अपने पूर्ण चरण में पहुंच जाता है और एक नया चंद्रमा आकार लेता है। स्ट्रॉबेरी मून के साथ ग्रीष्म संक्रांति का संयोग 20 साल में एक बार आता है। 

भारत में कब दिखेगा

सुपरमून एक खगोलीय घटना है, जिसमें चांद, पृथ्वी के सबसे नजदीकी स्थिति में आ जाता है, जिसके परिणामस्वरूप पृथ्वी से चांद सामान्य दिखने वाले आकार से अधिक बड़ा दिखाई देता है। साल भर में 12 से 13 बार पूर्णिमा या नए चांद दिखने की घटना होती है, जिसमें से मात्र तीन या चार को ही सुपर मून के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। स्ट्रॉबेरी मून भारत में शुक्रवार मध्यरात्रि (25 जून) से लगभग 12:09 बजे से दिखाई देगा, पूर्ण चंद्रमा लगभग तीन दिनों तक दिखाई देगा।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर