सावधान! अगर आपके फोन में हैं ये 7 एंड्रॉयड ऐप्स तो इन्हें तुरंत करें डिलीट

Google हर थोड़े-थोड़े दिन में अपने प्ले स्टोर से खतरनाक स्पाइवेयर से लोडेड ऐप्स को हटाते रहता है। अब की बार साइबर सिक्योरिटी कंपनी Trend Micro की एक लेटेस्ट रिपोर्ट से ये जानकारी सामने आई है कि प्ले स्टोर पर मौजूद 200 से ज्यादा एंड्रॉयड ऐप्स में एक खतरनाक स्पाइवेयर Facestealer पाया गया है।

Photo For Representation
Photo Credit- UnSplash 
मुख्य बातें
  • प्ले स्टोर पर मौजूद 200 से ज्यादा एंड्रॉयड ऐप्स में एक खतरनाक स्पाइवेयर Facestealer पाया गया है
  • Facestealer स्पाइवेयर के साथ 200 ऐप्स के अलावा ट्रेंड माइक्रो ने 40 फेक क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग ऐप्स को भी खोजा है
  • गूगल ने स्पाइवेयर की जानरकारी मिलते ही Facestealer से इंफेक्टेड सभी ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा लिया है

Google हर थोड़े-थोड़े दिन में अपने प्ले स्टोर से खतरनाक स्पाइवेयर से लोडेड ऐप्स को हटाते रहता है। अब की बार साइबर सिक्योरिटी कंपनी Trend Micro की एक लेटेस्ट रिपोर्ट से ये जानकारी सामने आई है कि प्ले स्टोर पर मौजूद 200 से ज्यादा एंड्रॉयड ऐप्स में एक खतरनाक स्पाइवेयर Facestealer पाया गया है। जोकि ना सिर्फ यूजर्स का पर्सनल डेटा करता है बल्कि फेसबुक पासवर्ड और दूसरी जानकारियों को भी चोरी कर लेता है। फिलहाल इन ऐप्स को गूगल ने प्ले स्टोर से हटा लिया है। 

Facestealer स्पाइवेयर के साथ 200 ऐप्स के अलावा ट्रेंड माइक्रो ने 40 फेक क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग ऐप्स को भी खोजा है। ये क्रिप्टो मनी चोरी करने की कोशिश करते हैं और यूजर्स की बिना इजाजत उनकी निजी जानकारियां भी इक्ट्ठी करते हैं। रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि इनमें से कुछ ऐप्स को 100,000 बार इंस्टॉल किया गया था। 

प्रीमियम बॉडी और ब्लूटूथ कॉलिंग सपोर्ट के साथ ये नई वॉच लॉन्च, कीमत 3,999 रुपये

यूजर्स की बिना इजाजत उनकी निजी जानकारियां कलेक्ट करने वाले कुछ ऐप्स में Daily Fitness OL, Panorama Camera, Business Meta Manager, Swam Photo, Enjoy Photo Editor, Cryptomining Farm Your own Coin और Photo Gaming Puzzle शामिल हैं। 

इन सभी ऐप्स को काफी बार डाउनलोड किया गया था। रिपोर्ट के मुताबिक गूगल ने स्पाइवेयर की जानरकारी मिलते ही Facestealer से इंफेक्टेड सभी ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा लिया है। हाालांकि, अगर ये ऐप्स किसी भी यूजर्स के फोन में मौजूद हों तो इन्हें तुरंत डिलीट करें। ताकी ये आपका डेटा चोरी ना करें। 

ये है ब्लूटूथ कॉलिंग वाली boAt की पहली स्मार्टवॉच, पहले 1000 ग्राहकों को 3,999 रुपये में मिलेगी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसी भी ऐप को डाउनलोड से पहले उसके डेवलपर के बारे में जरूर जानकारी लें। केवल ऑफिशियल डेवलपर के ही ऐप्स को डाउनलोड करें। साथ ही ऐप रेटिंग को भी चेक करें। कभी भी किसी भी ऐप को अपने कॉन्टैक्ट्स का एक्सेस देने से बचें। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर