WhatsApp Pink के नाम से किसी भी लिंक पर क्लिक न करें, हैक हो सकता है आपका मोबाइल फोन

साइबर सुरक्षा एक्सपर्ट्स ने अगाह किया कि व्हाट्एसऐप पिंक (WhatsApp Pink) को लेकर सवाधान रहें। एपीके डाउनलोड लिंक के साथ व्हाट्सऐप ग्रुप वायरस फैलाने का प्रयास किया जा रहा है। 

Do not click on any link in the name of WhatsApp Pink, your mobile phone may be hacked
व्हाट्सएप 

नई दिल्ली : साइबर एक्सपर्ट्स ने लिंक के जरिए फोन पर भेजे जा रहे वायरस को लेकर आगाह किया है। इस लिंक में दावा किया जाता है कि व्हाट्एसऐप (WhatsApp) गुलाबी रंग का हो जाएगा और उसमें नई विशेषताएं जुड़ जाएंगी। साइबर सुरक्षा एक्सपर्ट्स के अनुसार लिंक में दावा किया जाता है कि यह व्हाट्एसऐप की तरह से आधिकारिक अपडेट के लिए है। लेकिन लिंक पर क्लिक करते ही संबंधित यूजर्स का फोन हैक हो जाएगा और हो सकता है कि वे व्हाट्एसऐप का उपयोग नहीं कर पाए।

साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ राजशेखर राजहरिया ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि व्हाट्एसऐप पिंक को लेकर सवाधान! एपीके डाउनलोड लिंक के साथ व्हाट्सऐप ग्रुप वायरस फैलाने का प्रयास किया जा रहा है। व्हाट्सऐप पिंक के नाम से किसी भी लिंक पर क्लिक नहीं करे। लिंक को क्लिक करने पर फोन का उपयोग करना मुश्किल हो जाएगा।

साइबर सुरक्षा से जुड़ी कंपनी वोयागेर इनफोसेक के निदेशक जितेन जैन ने कहा कि यूजर्स को यह सलाह दी जाती है कि वे गूगल या एप्पल के ऑधिकारिक ऐप स्टोर के अलावा एपीके या अन्य मोबाइल ऐप को इंस्टॉल नहीं करें। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के ऐप से आपके फोन में सेंध लग सकते हैं और फोटो, एसएमएस, संपर्क आदि जैसी सूचनाएं चुराई जा सकती हैं।

इस बारे में संपर्क किए जाने पर व्हाट्स ऐप के ने कहा कि अगर किसी को संदिग्ध मैसेज या ई-मेल समेत कोई मैसेज आते हैं, उसका जवाब देने से पहले पूरी जांच कर ले और सतर्क रुख अपनाए। व्हाट्सऐप पर हम लोगों को सुझाव देते हैं कि हमने जो सुविधाएं दी हैं, उसका यूज करें और हमें रिपोर्ट भेजे, संपर्क के बारे में जानकारी दें या उसे ब्लॉक करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर