Chinese Apps Ban: चाइनीज ऐप्स बैन किए जाने पर सेलेब्रिटीज ने जताई खुशी, कहा- वायरस को फिर नहीं आने देना चाहिए

Celebrities reaction on Chinese Apps Ban: भारत सरकार ने चीन के 59 ऐप पर बैन लगा दिया है। इसमें लोकप्रिय ऐप टिकटॉक और पबजी भी शामिल हैं।

Chinese Apps Ban
59 चाइनीज ऐप्स पर सरकार ने लगाई रोक। 

मुख्य बातें

  • भारत-चीन सीमा विवाद के बीच सरकार ने 59 चाइनीज ऐप पर बैन लगाया
  • भारत-चीन सीमा पर मई के पहले सप्ताह से तनाव एवं गतिरोध जारी है
  • चाइनीज ऐप्स बैन किए को सेलेब्रिटीज ने सही बताया है

भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए सोमवार को चीन को झटका दिया। सरकार ने लोकप्रिय ऐप टिकटॉक और पबजी समेत 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया है। सरकार ने देश की संप्रुभता, एकता और रक्षा के लिए इन ऐप्स को खतरा बताते हुए प्रतिबंध लगाया है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए के तहत इन चाइनीज ऐप्स पर पाबंदी लगाई है। 

15 जून को गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। इसी के बाद से देश में चीन के खिलाफ गुस्से का माहौल है। सैनिकों की शहादत के बाद चीनी उत्पादों के बहिष्कार की मांग भी तेज हो रही थी। कई सेलेब्रिटीज ने भी चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील की थी। चाइनीज ऐप्स को बैन किए जाने के फैसले पर सेलेब्रिटीज ने अपने रिएक्शन दिया है और सरकार के फैसले को सही बताया है।

मशहूर टीवी एक्ट्रेस निया शर्मा ने कहा कि टिकटॉक को फिर कभी अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, 'हमारे देश को बचाने के लिए धन्यवाद। टिकटॉक नाम के इस वायरस को फिर कभी अनुमति नहीं दी जानी चाहिए! वहीं, एक्टर कुशल टंडन और एक्ट्रेस काम्या पंजाबी ने भी चाइनीज ऐप्स को प्रतिबंधित किए जाने पर खुशी जताई। काम्या ने ट्वीट किया कि शानदार, बेहदतरीन खबर। जय हिंद। #बॉयकॉट चाइनीज प्रॉडक्ट्स #बॉयकॉट चाइनीज ऐप्स। 


गौरतलब है कि चीनी ऐप्स पर भारतीय नागरिकों का डेटा चुराने का आरोप लगता रहा है। सरकार को कई शिकायतें मिली थीं, जिनमें कहा गया कि चीनी ऐप्स बिना यूजर्स की जानकारी के उनका डेटा चुराते हैं और फिर गलत इस्तेमाल करते हैं। इससे पहले भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने चाइनीज ऐप्स की एक लिस्ट तैयार कर केंद्र सरकार से अपील की थी इनको बैन किया जाए या फिर लोगों से कहा जाए कि इनको तुरंत अपने मोबाइल से हटा दें। 

अगली खबर