हॉकी स्टिक के साथ उनके जादू को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा: पीएम मोदी ने मेजर ध्‍यानचंद को दी श्रद्धांजलि

PM Modi tributes to Major Dhyan Chand: ध्‍यानचंद का जन्‍म 1905 में हुआ था और वह अपनी जादूई हॉकी शैली के लिए जाने जाते थे। वह उस भारतीय हॉकी टीम में थे, जिसने 1928, 1932 और 1936 ओलंपिक में गोल्‍ड मेडल जीता था।

pm narendra modi
पीएम नरेंद्र मोदी 

मुख्य बातें

  • नरेंद्र मोदी ने मेजर ध्‍यानंचद को उनकी 115वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी
  • ध्‍यानंचद की जयंती पर भारत में राष्‍ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है
  • पीएम मोदी ने कहा- सरकार देश में खेल को लोकप्रिय और प्रतिभाओं का समर्थन करने के लिए अपना पूरा प्रयास कर रही है

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को भारत के महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्‍यानंचद को उनकी 115वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी। हॉकी के जादूगर ध्‍यानंचद की जयंती पर 29 अगस्‍त को भारत में राष्‍ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। मेजर ध्‍यानचंद को श्रद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, 'आज राष्‍ट्रीय खेल दिवस पर हम मेजर ध्‍यानचंद को श्रद्धांजलि देते हैं, जिनके हॉकी स्टिक के साथ जादू को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। यह वो दिन भी है जब हमारे प्रतिभावान एथलीट्स की सफलता में परिवार, कोच और सपोर्ट स्‍टाफ के समर्थन की तारीफ की जाए।'

पीएम मोदी ने कहा राष्‍ट्रीय खेल दिवस 'उन सभी अनुकरणीय खिलाड़‍ियों की उल्‍लेखनीय उपलब्धियों का जश्‍न मनाने का दिन है, जिन्‍होंने विभिन्‍न खेलों में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया और हमारे देश को गौरवान्वित किया। उनका तप और दृढ़ संकल्‍प बेहतरीन है।' प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि सरकार देश में खेल को लोकप्रिय और प्रतिभाओं का समर्थन करने के लिए अपना पूरा प्रयास कर रही है।

उन्‍होंने एक और ट्वीट में कहा, 'भारतीय सरकार भारत में खेल और प्रतिभाशाली खिलाड़‍ियों का समर्थन करने के लिए अपना प्रयास कर रही है। इसी समय मैं हर किसी से आग्रह करता हूं कि खेल और फिटनेस को अपने दैनिक जीवन का हिस्‍सा बनाइए। ऐसा करने से कई फायदे हैं। हर कोई खुश और स्‍वस्‍थ रहे।'

महान ध्‍यानचंद का जन्‍म 1905 में हुआ था और वह अपनी जादूई हॉकी शैली के लिए जाने जाते थे। वह उस भारतीय हॉकी टीम के सदस्‍य थे, जिसने 1928, 1932 और 1936 ओलंपिक में गोल्‍ड मेडल जीता था। राष्‍ट्रीय खेल दिवस के दिन भारत के राष्‍ट्रपति, राष्‍ट्रपति भवन में हर साल खिलाड़‍ियों को कोच को सम्‍मानित करते हैं। इस दिन खिलाड़‍ियों और कोच को राजीव गांधी खेल रत्‍न अवॉर्ड, अर्जुन अवॉर्ड, द्रोणाचार्य अवॉर्ड ध्‍यानचंद अवॉर्ड से सम्‍मानित किया जाता है। हालांकि, इस साल कोरोना वायरस महामारी के कारण अवॉर्ड वर्चुअल समारोह में दिए गए।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर