सागर मर्डर केस: फरार होने के बाद सुशील कुमार के खत्म हो गए थे पैसे, पुलिस को कई दिनों तक ऐसे दिया गच्चा

Sushil Kumar Arrest: पहलवान सुशील कुमार पुलिस को कई दिनों तक चकमा देने में कामयाब रहे थे। उनके पैसे भी खत्म हो गए थे।

Sushil Kumar
सुशील कुमार (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI

करीब तीन सप्ताह से फरार चल रहे ओलंपिक मेडलिस्ट पहलवान सुशील कुमार रविवार को पकड़े गए। दिल्ली पुलिस ने सुशील और उनके सहयोगी अजय उर्फ सुनील को मुंडका से गिरफ्तार किया। पुलिस ने सुशील पर एक लाख रुपए जबकि अजय पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। पुलिस को दोनों की छत्रसाल स्टेडियम में हुए झगड़े के मामले में तलाश थी, जिसमें एक पहलवान सागर धनखड़ की मौत हो गई थी। वहीं, सागर के दोस्त सोनू तथा अमित कुमार घायल हो गए थे। फिलहाल सुशील और अजय को 6 दिनों की रिमांड पर भेजा गया है।

घटना का वीडियो वायरल करना चाहते थे सुशील

गौरतलब है कि सुशील ने पहले पूरी घटना में अपनी संलिप्तता से इनकार किया था, लेकिन मामला बढ़ने के बाद पहलवान और उनका सहयोगी अजय लापता हो गए थे। वहीं, इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, सुशील ने प्रिंस नाम के एक लड़के से घटना का वीडियो शूट करने के लिए कहा था, ताकि कोई भी उनके खिलाफ आवाज ना उठा सके। वह चाहते थे कि क्लिप उनकी कम्युनिटी में वायरल हो जाए और उन सभी के लिए एक चेतावनी का काम करे, जो भविष्य में ओलंपिक पदक विजेता को नुकसान पहुंचाने की सोच रखते हैं।

सुशील ने पुलिस को कई दिनों तक ऐसे दिया गच्चा

खबरों की मानें तो सुशील कुमार पुलिस को लगातार कई दिनों तक गच्चा देने में इसलिए कामयाब रहे, क्योंकि उन्होंने मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं किया। उन्हें डर था कि पुलिस मोबाइल के जरिए ट्रेस कर सकती है। ऐसे में सुशील ने इंटरनेट कॉलिंग के माध्यम से लोगों से संपर्क साथा। हालांकि, कई दिन तक फरार रहने के चलते सुशील के पास पैसे खत्म हो गए, जिसका इंतजाम करने के लिए वह स्कूटी के जरिए मुंडका गए थे। हालांकि पुलिस ने उन्हें धर लिया। उन्होंने स्कूटी दिल्ली में रहने वाली एक लड़की से थी, जो स्पोर्ट्स से जुड़ी है।

सुशील की गिरफ्तारी से सकते में खेल जगत

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतकर देश का नाम रोशन करने वाले सुशील कुमार की गिरफ्तारी से खेल जगत निराश और सकते में है। मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने पीटीआई से कहा, 'भारतीय खेलों के लिए उसने जो किया है उससे वह कभी नहीं छीना जा सकता। इस समय मैं बस यही कहना चाहता हूं। चीजें साफ होने दीजिए। मैं इससे अधिक टिप्पणी नहीं करना चाहता।' चौथी बार ओलंपिक में हिस्सा लेने की तैयारी कर रहे अचंता शरत कमल ने कहा, 'अगर असल में ऐसा हुआ है तो यह दुर्भाग्यशाली है और सिर्फ कुश्ती नहीं बल्कि भारतीय खेलों पर गलत असर डालेगा।'

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर