पुलिस ने ओलंपिक मेडलिस्‍ट सुशील कुमार के घर पर मारा छापा, हत्‍या से जुड़ा है मामला

Sushil Kumar: छत्रसल स्‍टेडियम में पिछले सप्‍ताह पहलावानों के दो गुटों के बीच मारपीट हुई थी, जिसमें एक पहलवान की मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक शुरुआती जांच में सुशील कुमार और उनके सहयोगियों का अपराध सामने आया है।

sushil kumar
सुशील कुमार 

मुख्य बातें

  • ओलंपिक मेडलिस्‍ट सुशील कुमार को खोजने के लिए पुलिस ने उनके घर पर छापा मारा
  • 23 साल के एक पहलवान की मौत की जांच में पुलिस से मारा छापा
  • दिल्‍ली पुलिस ने सुशील कुमार सहित अन्‍य दो पहलवानों के घर पर छापेमारी की

नई दिल्‍ली: दिल्‍ली पुलिस ने 23 साल के पूर्व जूनियर राष्‍ट्रीय चैंपियन की हत्‍या के मामले में ओलंपिक मेडलिस्‍ट सुशील कुमार का नाम सामने आने के बाद उनके घर पर छापा मारा है। बता दें कि दिल्‍ली के छत्रसाल स्‍टेडियम में पिछले सप्‍ताह पहलवान के दो गुटों के बीच मारपीट हुई थी, जिसमें 23 साल के पहलवान की मौत हो गई थी। इस मामले में सुशील कुमार का भी सामने आया है। जानकारी के मुताबिक दिल्‍ली पुलिस ने शुरुआती जांच में सुशील कुमार और अन्‍य दो पहलवानों का नाम सामने आने पर उनके घर छापेमारी की।

इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, अतिरिक्‍त डीसीपी (उत्‍तर-पश्चिम) डॉ गुरइकबाल सिंह सिद्धू ने कहा, 'हम सुशील कुमार की भूमिका की जांच कर रहे हैं क्‍योंकि उनके खिलाफ आरोप लगे हैं। हमने अपनी टीम उनके घर भेजी, लेकिन वो गायब थे। हम उनकी तलाश में हैं। आरोपी व्‍यक्तियों को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया गया है। शुरुआती जांच में पाया गया कि सुशील कुमार और उनके साथियों ने यह अपराध किया है।' मामले में एफआईआर एक पीसीआर कॉल के आधार पर सहायक उप-निरीक्षक (ASI) जितेंद्र सिंह द्वारा दर्ज की गई।

एफआईआर में बताया गया कि चार घंटे चली इस घटना में दो अन्‍य लोग भी चोटिल हुए हैं। उन्‍होंने पुलिस को कहा कि शारीरिक रूप से हमला हुआ। एडीसीपी ने कहा, 'मृतक की पहचान सागर कुमार के रूप में हुई है। दिल्‍ली पुलिस ने हेड कांस्‍टेबल के बेटे और घायलों की पहचान सोनू महल (35 साल) और अमित कुमार (27 साल) के रूप में हुई है। हमने प्राथमिकी दर्ज की है। प्रिंस दलाल (24 साल) को गिरफ्तार किया गया है और मौके से एक डबल बैरक बंदूक भी जब्‍त की गई है।'

सिद्धू के मुताबिक पुलिस को पता चला कि सुशील कुमार, अजय, प्रिंस, सोनू, सागर, अमित और अन्‍य लोगों के बीच स्‍टेडियम के पार्किंग क्षेत्र में झगड़ा हुआ।  पुलिस और सूत्रों ने बताया कि सागर और उसके दोस्त मॉडल टाउन इलाके में स्टेडियम के पास कुमार से जुड़े एक घर में रह रहे थे और हाल ही में उन्हें खाली करने के लिए कहा गया था। बता दें कि सागर 97 किग्रा ग्रीको रोमन वर्ग में स्‍पर्धा करते थे और वह पूर्व जूनियर नेशनल चैंपियन थे व सीनियर नेशनल कैंप का हिस्‍सा थे। 

पुलिस सूत्रों ने कहा, 'सोनू महल  गैंगस्टर काला जत्थेदी का करीबी सहयोगी है और उसे पहले एक लूट और हत्या मामले में गिरफ्तार किया गया था। एफआईआर में बताया गया कि देर रात 2 बजे छत्रसाल स्‍टेडियम से गोली चलने की घटना के बाद पुलिस कंट्रोल रूम को फोन गया। फोन करने वाले ने दावा किया कि उन्‍होंने दो पुरुषों को अन्‍य पर गोली चलाते हुए देखा। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां पार्किंग में पांच कार मिली, लेकिन अंदर कोई नहीं था।'

पुलिस ने कहा, 'कार्यवाही के दौरान हमने पाया कि पीसीआर वाहन मौके पर आया और चोटिल व्‍यक्‍ति को बीजेआरएम अस्‍पताल ले गया।' जहां सागर चोट के कारण अपनी जान गंवा बैठे, वहीं सोनू और अमित का उपचार चल रहा है। पुलिस के मुताबिक स्‍टेडियम के बाहर खड़ी एक स्‍कॉर्पियो में जिला क्राइट टीम ने लोडेड डबल बैरल गन और तीन कार्टरिज मिली। आरोपी कार में इकट्ठा हुए और एक-दूसरे की पिटाई की व हमला किया।

सुशील कुमार का करियर

बता दें कि 2008 में सुशील कुमार ओलंपिक मेडल जीतने वाले भारत के दूसरे पहलवान बने थे। इससे पहले 1952 में खासाहबा जाधव ने मेडल जीता था। इसके बाद सुशील कुमार ने 2012 लंदन ओलंपिक्‍स में अपना प्रदर्शन सुधारते हुए सिल्‍वर मेडल जीता। 

सुशील कुमार एकमात्र भारतीय पहलवान हैं, जिन्‍होंने व्‍यक्तिगत खेल स्‍पर्धा में एक के बाद एक दो मेडल जीते। उनके नाम विश्‍व चैंपियनशिप का खिताब भी है। 37 साल के सुशील कुमार रियो ओलंपिक्‍स में हिस्‍सा नहीं ले रहे हैं क्‍योंकि चयन मामले में संघ से उनका विवाद हुआ और तबसे दुर्लभ ही उन्‍होंने स्‍पर्धा में हिस्‍सा लिया। अब टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में भी वह नहीं खेल पाएंगे।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर