टोक्यो पैरालंपिक: सुमित अंतिल ने भाला फेंक में किया कमाल, वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ जीता गोल्ड मेडल

Sumit Antil Wins Gold Medal: भारत ने टोक्यो पैरालंपिक में दूसरा गोल्ड मेडल जीता लिया है। एथलीट सुमित अंतिल ने भाला फेंक में गोल्ड अपने नाम किया।

Sumit Antil
सुमित अंतिल  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • सुमित अंतिल ने पैरालंपिक में किया कमाल
  • सुमित ने भारत को दूसरा गोल्ड मेडल दिलाया
  • भाला फेंक एथलीट एफ64 स्पर्धा में टॉप पर रहा

टोक्यो: भारत ने टोक्यो पैरालंपिक में एक और गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है। भाला फेंक एथलीट सुमित अंतिल ने सोमवार को गोल्ड पर कब्जा जमाया। वह पुरुषों की भालाफेंक एफ64 स्पर्धा में विश्व रिकार्ड के साथ पहले स्थान पर रहे। सुमित ने फाइनल में 68.55 मीटर के थ्रो के साथ विश्व रिकॉर्ड बनाया।

अंतिल का फाइनल में ऐसा रहा प्रदर्शन

सुमित ने पहले प्रयास में 66.95 मीटर दूर भाला फेंका जबकि दूसरे अटेम्पट में 68.08 मीटर थ्रो किया। उन्होंने तीसरे प्रयास में 65.27 मीटर का थ्रो किया और चौथे अटेम्पट में 66.71 मीटर दूर भाला फेंका। वहीं, सुमित ने पांचवें प्रयास में 68.55 मीटर का थ्रो के जरिए कमाल ही कर दिया। उनका छठा और अंतिम थ्रो फाउल रहा।

ऑस्ट्रेलिया के बरियन को मिला सिल्वर

सुमित ने जहां गोल्ड जीता वहीं स्पर्धा का सिल्वर ऑस्ट्रेलिया के माइकल बरियन ने हासिल किया। बरियन ने 66.29 मीटर थ्रो किया। श्रीलंका के दुलन कोडिथुवक्कू ने 65.61 मीटर दूर ककर ब्रॉन्ज जीता। दूसरी ओर,भारत के संदीप एफ-44 क्लास में चौथे स्थान पर रहे। उन्होने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 62.20 मीटर का थ्रो किया।

दुर्घटना के बाद अंतिल का पैर काटना पड़ा

एफ64 स्पर्धा में एक पैर कटा होने वाले एथलीट कृत्रिम अंग (पैर) के साथ खड़े होकर हिस्सा लेते हैं। दिल्ली के रामजस कॉलेज के छात्र अंतिल दुर्घटना से पहले पहलवान थे।  हरियाणा के सोनीपत के 23 साल के अंतिल का दुर्घटना के बाद उनके बाएं पैर को घुटने के नीचे से काटना पड़ा। अंतिल ने दुबई में 2019 विश्व चैम्पियनशिप में एफ64 भाला फेंक स्पर्धा में रजत पदक जीता था।

अवनि ने भारत को पहला गोल्ड दिलाया

भारत को टोक्यो पैरालंपिक में पहला गोल्ड निशानेबाज अवनि लेखरा ने दिलाया। उन्होंने सोमवार को निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा। अवनि ने फाइनल में 249.6 अंक बनाकर विश्व रिकार्ड की बराबरी की और पहला स्थान हासिल किया।

उन्होंने चीन की झांग कुइपिंग (248.9 अंक) को पीछे छोड़ा। अवनि पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं। यह भारत का इन खेलों की निशानेबाजी प्रतियोगिता में भी पहला पदक है। पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली वह तीसरी भारतीय महिला हैं।

भारत अब तक आठ पदक जीत चुका है

अविन और सुमित के अलावा आज देवेंद्र झाझरिया, सुंदर सिंह गुर्जर और योगेश काथुनिया ने भी देश के लिए मेडल जीते। भारत अब तक कुल आठ मेडल जीत चुका है, जिसमें दो गोल्ड, चार सिल्वर और दो ब्रॉन्ज हैं। भारत ने ररिवार को राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर मेडल की 'हैट्रिक' लगाई थी यानी तीन मेडल हासिल किए थे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर