Vat Amavasya Upay: वट सावित्री व्रत पर करें ये 9 चमत्कारी उपाय, शनि दोष मुक्ति के साथ होगी भाग्य उन्नति

Vat Savitri ke Upay: ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि पर वट सावित्री व्रत रखा जाएगा। वट सावित्री व्रत के साथ इस दिन शनि जयंती भी है। मान्यता अनुसार, वट सावित्री व्रत तथा शनि जयंती पर कुछ उपाय बेहद लाभदायक हैं।

Vat Savitri ke Upay 2021
वट सावित्री के उपाय 

मुख्य बातें

  • पंचांग अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि पर 10 जून को वट सावित्री व्रत।
  • पति की लंबी उम्र के लिए तथा उनके स्वस्थ जीवन के लिए पत्नियां करती हैं वट सावित्री व्रत।
  • वट सावित्री व्रत और शनि जयंती पर कुछ उपाय करना है बेहद फायदेमंद।

Vat Savitri June 2021 Upay in Hindi: सनातन धर्म में वट सावित्री व्रत बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती है, यह पर्व महिलाओं के लिए बहुत विशेष होता है। इस वर्ष वट सावित्री व्रत शनि जयंती तिथि पर पड़ रही है। हर वर्ष शनि जयंती ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि पर पड़ती है। हिंदू पंचांग के अनुसार, वट सावित्री व्रत इस बार 10 जून 2021 गुरुवार के दिन मनाई जाएगी। महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र, स्वास्थ्य और घर की सुख-शांति के लिए वट सावित्री व्रत रखती हैं।

शनि जयंती पर भगवान शनिदेव की पूजा करना बेहद लाभदायक माना जाता है, इस दिन शनिदेव की पूजा विधि विधान के अनुसार करना बेहद फायदेमंद होता है। इतना ही नहीं, इस दिन सूर्य ग्रहण भी लगने जा रहा है। जानकार बताते हैं कि इस बार सूर्य ग्रहण वलयाकार होगा। मान्यताओं के अनुसार, वट सावित्री व्रत, शनि जयंती तथा सूर्य ग्रहण पर कुछ उपाय करना उत्तम माना जाता है। 

काली गाय को खिलाएं लड्डू:
इस दिन, बिना कोई निशान वाली काली गाय को 8 बूंदी के लड्डू खिलाइए फिर उसकी परिक्रमा करने के बाद उसके पूंछ से 8 बार अपने सिर को झाड़िए। 

काले सुरमे का उपाय:
शनि जयंती पर किसी सुनसान जगह पर गड्ढा खोदिए फिर उसमें काला सुरमा डाल दीजिए।

काले कुत्ते का उपाय:
इस तिथि पर किसी काले कुत्ते को तेल लगाकर को रोटी खिलाना बेहद शुभ माना जाता है। 

पीपल के पेड़ का उपाय:
इस दिन सुबह-सुबह पीपल के वृक्ष पर मीठा दूध चढ़ाने के बाद तेल का दीपक जलाइए जिसकी बत्ती पश्चिम दिशा में हो। इसके बाद पीपल वृक्ष की एक-एक परिक्रमा करते हुए ॐ शं शनैश्चराय नमः मंत्र का जाप कीजिए तथा एक-एक दाना मीठी नुक्ती का चढ़ाइए। इतना करने के बाद शनिदेव की प्रार्थना कीजिए।

तिल और सरसों का करें दान:
10 जून को काले कपड़े, नीलम, 800 ग्राम तिल और 800 ग्राम सरसों का दान कीजिए। 

हनुमान चालीसा का करे पाठ:
इस दिन हनुमान चालीसा का पाठ करते हुए एक-एक चौपाई पर परिक्रमा कीजिए।

घर में स्थापित करें काले घोड़े की नाल:
शनि जयंती पर अपने घर के मुख्य दरवाजे पर काले घोड़े की नाल को स्थापित कीजिए, याद रखें नाल स्थापित करते समय आपका मुख ऊपर की ओर और खुला होना चाहिए। अगर यह नाल आप दुकान में फैक्ट्री के द्वार पर स्थापित करने वाले हैं तो आपका मुंह नीचे की ओर खुला होना चाहिए। यह उपाय करने से शनिदेव की कृपा मिलती है।

ऐसे करें कांस के कटोरे का दान:
इस दिन कांस का कटोरा खरीद कर उसमें सरसों या तिल का तेल भर दीजिए फिर इस कटोरे में अपना चेहरा देखकर किसी गरीब या जरूरतमंद इंसान को दान कर दीजिए।

शनि यंत्र करें इस दिन धारण:
शनि जयंती पर शनि यंत्र धारण कीजिए इसके साथ घोड़े की नाल या नाव की कील का छल्ला बनाकर अपने हाथ के बीच की उंगली में पहन लीजिए।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर