Sawan somvar puja vidhi 2021: इस दिन पड़ रहा है सावन का पहला सोमवार, जानें शिवजी की कृपा के लिए कैसे करें पूजा

Sawan somvar puja vidhi 2021: सावन सोमवार भगवान शिव के भक्तों के लिए बहुत अनुकूल मानी गई है। सावन सोमवार पर विधि अनुसार भगवान शिव की पूजा करने से भक्तों को शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

sawan 2021, sawan somvar 2021, sawan somvar vrat vidhi, सावन 2021, सावन सोमवार पूजा विधि
जानें सावन सोमवार में शिव जी की अर्चना के लिए पूजा विधि (Pic: Istock) 

मुख्य बातें

  • हिंदू पंचांग के पवित्र महीने में से एक सावन का महीना इस वर्ष 25 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है।
  • सावन 2021 का पहला सोमवार इस वर्ष 26 जुलाई के दिन पड़ रहा है, सावन सोमवार का व्रत रखने वाले भक्तों को विशेष कृपा मिलती है। ‌
  • शिव जी के साधकों के लिए सावन सोमवार बेहद महत्वपूर्ण है, विधि अनुसार शिवजी की पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं।


Sawan somvar puja vidhi 2021: भगवान शिव के साधक के लिए हिंदू पंचांग के सबसे पवित्र महीनों में से एक सावन का महीना बेहद अनुकूल है। हिंदू धर्म शास्त्रों में सावन के महीने को पूजा और साधना का महीना कहा गया है। विधि अनुसार सावन महीने में पूजा पाठ करना शिव भक्तों के लिए मंगलमय माना गया है। शिव पुराण के अनुसार, सावन सोमवार का व्रत शादीशुदा महिलाओं और कन्याओं के लिए अत्यधिक लाभदायक है। जो शादीशुदा महिलाएं सावन सोमवार का व्रत रखती हैं उन्हें अखंड सौभाग्यवती होने का वरदान प्राप्त होता है। वहीं कुंवारी कन्याओं को योग्य वर की प्राप्ति होती है। सावन सोमवार का व्रत करने वाले भक्तों की सभी इच्छाएं भगवान शिव अवश्य पूर्ण करते हैं। हिंदू धर्म शास्त्रों में यह कहा गया है कि विधि अनुसार सावन सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा-आराधना करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं तथा परेशानियां दूर हो जाती हैं। 

यहां जानें, सावन सोमवार व्रत की पूजा विधि और भगवान शिव की आराधना के लिए मंत्र।

सावन सोमवार पूजा विधि 

सावन सोमवार के दिन व्रत करने वाले भक्तों को सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठा जाना चाहिए। सुबह उठने के बाद उन्हें अपने नहाने के पानी में काला तिल मिलाकर नहाना चाहिए। स्नान करने के बाद अपने पूजा घर को साफ कर लीजिए और सच्चे मन से भगवान शिव के सामने व्रत का संकल्प लीजिए। अब शिवलिंग स्थापित करके सफेद फूल, चावल, बेलपत्र, सफेद चंदन, पंचामृत, सुपारी आदि अर्पित करें। इसके बाद भगवान शिव के मंत्रों का जाप करें और कथा का पाठ करें। अंत में आरती करके भगवान शिव को उनके प्रिय भोग चढ़ाएं। पूरा दिन व्रत रखें और शाम को ठीक इसी तरह शिव जी पूजा करें। पूजा के दौरान शिवजी का जलाभिषेक करना लाभकारी है।

सावन सोमवार के लिए भगवान शिव जी के मंत्र।

ॐ नमः शिवाय


ॐ त्रयंबकम यजामहे सुगंधिम पुष्टिवर्धनम उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्।।


ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहितन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।।


भगवान शिव के सभी मंत्र अत्यंत प्रभावशाली और लाभदायक माने गए हैं। सावन सोमवार व्रत के दौरान इन मंत्रों का जाप करने से भक्तों की सभी इच्छाएं पूर्ण होती हैं तथा उनके जीवन में आ रही बाधाएं दूर होती हैं। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर