Surya Grahan 2021: सूर्य ग्रहण पर गर्भवती महिलाएं करें इन मंत्रों का जाप, नहीं पड़ेगा बुरा प्रभाव

Garbhvati Mahila Surya Grahan Mantra 2021: मान्यताओं के अनुसार, 10 जून 2021 के सूर्य ग्रहण पर मंत्रों का प्रभाव किसी भी नकारात्मक शक्ति को नष्ट कर सकता है इसलिए गर्भवती महिलाओं को इसकी सलाह दी जाती है।

Surya Grahan 2021 Mantras for pregnant women Upay
गर्भवती महिला के लिए सूर्य ग्रहण 2021 के उपाय (Photo Credit- iStock) 

मुख्य बातें

  • ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि यानी आज लगने वाला है वर्ष 2021 का पहला सूर्य ग्रहण।
  • दोपहर के 01:43 से लेकर शाम के 06:41 तक रहेगा इस सूर्य ग्रहण का समय।
  • सूर्य ग्रहण के प्रकोप से बचने के लिए गर्भवती महिलाओं को करना चाहिए कुछ मंत्रों का जाप।

Solar Eclipse 2021 Mantra for pregnant women in Hindi: आज ज्येष्ठ मास की अमावस्या है और आज के दिन वर्ष 2021 का पहला सूर्य ग्रहण लगने वाला है। वैज्ञानिकों के अनुसार, कई देशों में रिंग ऑफ फायर का नजारा दिखने वाला है। यह बताया जा रहा है कि इस बार कनाडा, ग्रीनलैंड और रूस के कुछ हिस्सों में सूर्य ग्रहण दिखेगा वहीं ईस्ट कोस्ट में यह आंशिक रूप से दिखाई देगा। भारत में आज सूर्य ग्रहण ईस्ट के कुछ हिस्सों में दिखाई देने वाला है।

सूर्य ग्रहण के दौरान, चंद्रमा सूर्य के 97 फीसदी हिस्से को ढकने वाला है। कहा जाता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं पर इसका प्रभाव अधिक रहता है। इसीलिए ग्रहण काल के दौरान गर्भवती महिलाओं को कुछ कार्य करने से मना किया जाता है।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण काल में गर्भवती महिलाओं को ग्रहण काल के प्रकोप से बचने के लिए कुछ मंत्रों का जाप अवश्य करना चाहिए। कहा जाता है कि मंत्र इतने प्रभावशाली होते हैं कि वह सूर्य ग्रहण के बुरे प्रभावों से गर्भवती महिलाओं को सुरक्षित रखते हैं। 

यहां जानिए, गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण के समय किन मंत्रों (Surya Grahan Prabhav ke liye Mantra) का जाप करना चाहिए।
सूर्य ग्रहण तिथि: - 10 जून 2021, गुरुवार 
सूर्य ग्रहण प्रारंभ: - 10 जून 2021 दोपहर 01:43
सूर्य ग्रहण समाप्त: - 10 जून 2021 शाम 06:41 

गर्भवती महिलाएं करें इन मंत्रों का जाप (Surya Grahan Mantras for pregnant women)
सूर्य ग्रहण के दौरान, ग्रहण के प्रकोप से खुद को और अपने गर्भस्थ शिशु को बचाने के लिए गर्भवती महिलाओं को मंत्रों का जाप करना चाहिए। मंत्रों का जाप करने से गर्भवती महिलाओं के ऊपर तरंगों का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। आज के दिन गर्भवती महिलाएं सूर्य देव की पूजा कर सकती हैं इसके साथ उन्हें आदित्य ह्द्य स्त्रोत और सूर्या अष्टक स्त्रोत का पाठ करना चाहिए।

हनुमान चालीसा और दुर्गा स्तुति का पाठ करना भी बेहद लाभदायक होगा। गर्भस्थ शिशु को सुरक्षित रखने के लिए गर्भवती महिलाएं महा मृत्युंजय मंत्र, संतान गोपाल मंत्र या विष्णु मंत्र का जाप अवश्य करें। इसके अलावा आप इन मंत्रों का भी जाप कर सकते हैं। 

ॐ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्नो सूर्य: प्रचोदयात।

रक्ष रक्ष गणाद्य्यक्ष: रक्ष त्रैलोक्य नायक:।
भक्त नाभयं कर्ता त्राताभव भवार्णवात्।।

कृं कृष्णाय नमः।

ॐ श्रीं नमः श्रीकृष्णाय परिपूर्णतमाय स्वाहा।

गोवल्लभाय स्वाहा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर