Makar Sankranti ke Upay: मकर संक्रांति पर किस राशि के लोग करें कौन से उपाय, पुण्य प्राप्ति के लिए करें ये काम

मकर संक्रांति ज्योतिषीय रूप से एक बेहद अहम अवसर होता है। यहां जानिए मकर संक्रांति 2021 के मौके पर पुण्य पाने के लिए किस राशि के लोग क्या करें।

Makar Sankranti 2021 ke Upay aur Rashifal
मकर संक्रांति 2021 के उपाय 

ज्योतिषीय रूप से मकर संक्रांति 2021 का अवसर बेहद खास होता है। इस मौके पर भगवान सूर्य देव दक्षिणायन से उत्तरायणन की ओर आते हैं और इस मौके पर कुछ अनुष्ठान करना बेहद शुभदायी माना गया है। यहां हम राशि अनुसार आपको मकर संक्रांति के उपाय बता रहे हैं, जिन्हें अपनाकर इस खास त्योहार के मौके पर आप पुण्यफल अर्जित कर सकते हैं।

1.मेष- सूर्य उपासना करें। भगवान विष्णु जी की व हनुमान जी की पूजा करें। श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का 03 पाठ अत्यंत आवश्यक है। तिल का दान करें।

2. वृष- श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ करें। विष्णुसहस्रनाम के पाठ से कष्टों से मुक्ति मिलेगी। तिल व गुड़ का दान करें।

3. मिथुन- भगवान विष्णु के साथ साथ सूर्य पूजा भी करें। सूर्य के बीज मंत्र का जप करें व फिर हवन करें। शारीरिक कष्टों से मुक्ति के लिए गायत्री मंत्र का जप करें।

4.कर्क- जो लोग रोग या किसी भय से परेशान हैं,वो आदित्यहृदयस्तोत्र का तीन बार पाठ करें।जिनको लगता है कि अब हम असुरक्षित हैं ,ऎसे लोगों को श्री रामरक्षास्तोत्र का पाठ करना बहुत प्रभावी है। कनकधारा स्तोत्र के पाठ से धन की प्राप्ति होगी।

5. सिंह- तिल व गुड़ का दान अवश्य करें। आज दान का बहुत महत्व है।मकर संक्रांति पर चावल,दाल,आलू,सब्जी इत्यादि कम से कम 9 व्यक्तियों के भोजन के बराबर अन्न दान अवश्य करना चाहिए। सूर्य के बीज मंत्र का जप करें।

6. कन्या- लाल वस्त्र व अन्न का दान करने से धन की प्राप्ति होगी। बुध व सूर्य के बीज मंत्र का जप करें।श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ करें।

7. तुला- अपने राशि के स्वामी ग्रह यानी शुक्र के साथ सूर्य के बीज मंत्र का जप अवश्य करें। गायत्री मंत्र का जप करें। खिचड़ी का दान करें।

8. वृश्चिक- मंगल व सूर्य के बीज मंत्र का जप करें। गायत्री मंत्र का जप करें। लाल फलों का दान करें।तिल व उड़द का दान करें।

9. धनु- गुरु,मंगल व सूर्य के बीज मंत्र का जप करें।धार्मिक पुस्तकों का दान करें। तिल व खिचड़ी का दान करें।

10. मकर- हनुमान चालीसा व श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होगी। श्री सूक्त के पाठ से धन का आगमन होता है।

11. कुंभ- शनि व सूर्य के बीज मंत्र का जप करें। बजरंगबाण का पाठ करें।उड़द का दान करें।कम्बल दान करें।

12. मीन- गुरु व सूर्य के बीज मंत्र का जप करें।तिल व अन्न का दान करें।श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का तीन बार पाठ भी करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर