22 अप्रैल 2022 का पंचांग: वैशाख माह कृष्ण पक्ष की षष्ठी पर करें वैभव लक्ष्मी का पावन व्रत, देखें पंचांग

22 April 2022 ka Panchang: आज वैशाख माह कृष्ण पक्ष की षष्ठी है। पूर्वाषाढा नक्षत्र है। इस दिन भगवान विष्णु जी के साथ माता लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। यहां पढ़ें शुक्रवार का पंचांग और शुभ और अशुभ मुहूर्त।

Panchang 22 April 2022
पंचांग, aaj ka panchang 
मुख्य बातें
  • 22 अप्रैल को है वैशाख माह कृष्ण पक्ष की षष्ठी।
  • इस दिन रहेगा पूर्वाषाढा नक्षत्र।
  • इस दिन वैभव लक्ष्मी का व्रत रखना माना गया है शुभ।

22 April 2022 Ka Panchang: आज वैशाख माह कृष्ण पक्ष की षष्ठी है। पूर्वाषाढा नक्षत्र है। आज वैभव लक्ष्मी का पावन व्रत है। भगवान विष्णु जी की उपासना के साथ माता लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। आज श्री सूक्त के पाठ करने का बहुत सुंदर अवसर है। मंदिर में विष्णु जी का दर्शन करें। कनकधारास्तोत्र का पाठ करें। हनुमानबाहुक व गणेश स्तोत्र के पाठ का आज बहुत महत्व है। शिवपूजा के लिए मंदिर में भगवान शिव को दुग्ध, गंगाजल व शहद से रुद्राभिषेक करें व उनको बेल पत्र अर्पित करें। दुर्गा जी की स्तुति करें। आज दान का बहुत महत्व व पुण्य है। आज पुण्य संचय करने का महान दिवस है। शुक्रवार को विष्णु व लक्ष्मी उपासना व व्रत का पुण्य भी है।

प्रातःकाल पंचांग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। अभिजीत मुहूर्त का समय सबसे बेहतर होता है। इस शुभ समय में कोई भी कार्य प्रारंभ कर सकते हैं। विजय व गोधुली मुहूर्त भी बहुत ही सुंदर होता है। राहुकाल में कोई भी कार्य या यात्रा आरम्भ नहीं करना चाहिए।

Also Read: Horoscope Today, 22 April 2022: आज तिल का दान करें मिथुन राशि के जातक, जानें क्या कहता है आपका राशिफल

आज का पंचांग 22 अप्रैल 2022 (Today Panchang)

दिनांक 22 अप्रैल 2022  
दिवस शुक्रवार
माह वैशाख, कृष्ण पक्ष
तिथि खष्ठी 08:43 am तक फिर सप्तमी 
सूर्योदय

05:50 am

सूर्यास्त 06:49 pm
नक्षत्र पूर्वाषाढ़ा
सूर्य राशि मेष
चन्द्र राशि

धनु

करण तैतिल
योग

परिघ

Also Read: Akshaya Tritiya 2022 Date: अक्षय तृतीया 2022 में कब है, जानें तिथि, पूजा मुहूर्त और महत्व

अभिजीत मुहूर्त  11:57 am से 12:46 pm तक
विजय मुहूर्त 02:22 pm से 03:15 pm तक
गोधुली मुहूर्त 06:02 pm से 06:08 pm तक

राहुकाल का समय दोपहर 10:30 बजे से 12 बजे तक है। इस दौरान शुभ काम को करने से परहेज करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर