Akshaya Tritiya 2022: अक्षय तृतीया पर धन प्राप्ति के लिए करें ये उपाय, तिजोरी कभी नहीं रहेगी खाली

Akshaya Tritiya Remedies: अक्षय तृतीया के शुभ दिन पर धन की देवी मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। दीपावली के समान ही इस दिन भी विधि-विधान से पूजा पाठ करने का विधान है। साथ ही अक्षय तृतीया के शुभ नक्षत्र पर कुछ उपायों को करने से धन-संपत्ति की प्राप्ति होती है।

Akshaya Tritiya 2022
Akshaya Tritiya 
मुख्य बातें
  • लाभदायक होते हैं अक्षय तृतीया पर किए गए उपाय
  • सभी कार्यों के लिए शुभ माना जाता है अक्षय तृतीया का दिन
  • अक्षय तृतीया पर होती है भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की एक साथ पूजा

Akshaya Tritiya 2022 Remedies: हर साल हिंदू कैलेंडर के अनुसार अक्षय तृतीया वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर पड़ती है। इस साल अक्षय तृतीया मंगलवार 03 मई 2022 को मनाया जाएगा। अक्षय तृतीया को हिंदू धर्म का सबसे शुभ दिन माना जाता है। आप इस दिन कोई भी कार्य बिना मुहूर्त या पंचांग देखे कर सकते हैं। अक्षय तृतीया के दिन किए गए कार्य में आपको सफलता मिलती है। खासतौर पर सोना खरीदने के लिए अक्षय तृतीया का दिन बेहद शुभ होता है। साथ ही इस दिन मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की एक साथ पूजा की जाती है। धन-वैभव से जुड़े अक्षय तृतीया के पर्व में कुछ उपाय करना भी  फलदाया होता है। अक्षय तृतीया के शुभ दिन पर इन उपायों को करने से घर पर कभी भी धन-संपत्ति का अभाव नहीं रहेगा।  

अक्षय तृतीया पर धन प्राप्ति के लिए उपाय

  • कहा जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन पूरे घर की अच्छे से साफ सफाई करनी चाहिए और घर के रख-रखाव में वास्तु के अनुसार थोड़ा बदलाव करना चाहिए। इसलिए इस दिन आप अपनी अलमारी को दक्षिण की दीवार की ओर करें। यह दिशा धन वृद्धि के लिए उत्तम मानी जाती है।
  • अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी को गुलाब का फूल अर्पित करें और स्वयं भी गुलाबी रंग के कपड़े पहनकर पूजा करें। मोती या स्फटिक की माला से ‘"ह्रीं क ए इ ल ह्रीं ह स क ह ल ह्रीं स क ल ह्रीं" मंत्र का जाप करना भी लाभकारी होगा।
  • कभी-कभी ऐसा होता है कि नौकरी व्यापार सही चलने पर भी घर पर धन का अभाव बना रहता है। ऐसे में आप गणेश भगवान का स्वरूप घर के मुख्य द्वार पर लगा दें। इससे नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव कम होगा और धन संबंधी समस्याओं का अंत होगा।

सुखी दांपत्य जीवन के लिए

  • अक्षय तृतीया के दिन मां गौरी और भगवान शिवजी की पूजा करना शुभ होता है। ऐसा करने से वैवाहिक जीवन में मधुरता आती है और पति-पत्ती के बीच आपसी प्रेम बढ़ता है।
  • अक्षय तृतीया के दिन मां गौरी को "ऊं गौरीशंकराय नम:" मंत्र का 108 बार जाप करते हुए सिंदूर अर्पित करें। इस सिंदूर को एकत्रित कर रख लें और प्रतिदिन स्नान के बाद इससे अपनी मांग भरे। इससे उपाय से भी वैवाहिक जीवन में खुशियां बनी रहती है।

इसके साथ ही आप इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी और विष्णु जी की पूजा अलग-अलग ना करें बल्कि एक साथ करें। क्योंकि देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु पति-पत्नी हैं। अक्षय तृतीया के दिन दान-दक्षिणा करना भी शुभ होता है।

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर