Sharad navratri 2021: शरद नवरात्रि 2021 में कब से हैं, यहां देखें शारदीय दुर्गा पूजा का पूरा कैलेंडर डेट सह‍ित

Sharad Navratri 2021 : शरद नवरात्र‍ि 2021 में अक्‍टूबर में आएंगे। ये द‍िन मां दुर्गा के पूजन के ल‍िए खास माने जाते हैं। देखें शारदीय नवरात्र 2021 का पूरा कैलेंडर।

Sharad navratri 2021, sharad navratri 2021 date, sharad navratri 2021 start date, sharad navratri 2021 kab se hai, शरद नवरात्रि 2021, शरद नवरात्रि कब है 2021
शरद नवरात्रि कब है 2021 (Pic : Istock) 

मुख्य बातें

  • इस वर्ष 7 अक्टूबर 2021 से प्रारंभ हो रही है शरद नवरात्रि (Sharad navratri 2021), इन 9 दिनों में श्रद्धा-भाव से की जाती है मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा।
  • शरद नवरात्रि (Sharad navratri) के 9 दिन बेहद कल्याणकारी माने जाते हैं, इन दिनों में माता दुर्गा की पूजा करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।
  • वर्ष में कुल 4 बार नवरात्रि मनाई जाती है, जिनमें से चैत्र और शरद नवरात्रि मां दुर्गा के भक्तों के लिए बेहद अनुकूल होती हैं।

Navratri 2021 : हिंदू पंचांग के अनुसार वर्ष में चार बार नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है जो शरद, चैत्र, माघ और आषाढ़ के महीने में पड़ती हैं। शरद और चैत्र के महीने में पड़ने वाली नवरात्रि मां दुर्गा के भक्तों के लिए विशेष होती है वहीं माघ और आषाढ़ के महीने में पड़ने वाली नवरात्रि तांत्रिकों व अघोरियों के लिए महत्वपूर्ण मानी जाती है जिसे गुप्त नवरात्रि कहते हैं। इन 9 दिनों में भक्त मां दुर्गा की भक्ति में लीन रहते हैं तथा दिन-रात उनकी उपासना करते हैं। 

shardiya navratri 2021 kab hai, अक्टूबर में नवरात्रि कब है 2021

इस वर्ष शरद नवरात्रि 7 अक्टूबर गुरुवार के दिन से प्रारंभ हो रही है। शक्ति का स्वरुप माने जाने वाली माता दुर्गा को समर्पित यह 9 दिन बेहद कल्याणकारी होते हैं। इन 9 दिनों में माता दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है और पूरे भारत में भक्ति और उल्लास का माहौल रहता है। 

शरद नवरात्रि 2021 प्रारंभ व समापन तिथि, Sharad Navratri 2021 start and end date

शरद नवरात्रि प्रारंभ: - 7 अक्टूबर 2021, गुरुवार

शरद नवरात्रि नवमी तिथि: - 14 अक्टूबर 2021, गुरुवार

शरद नवरात्रि दशमी तिथि: - 15 अक्टूबर 2021, शुक्रवार

sharadiya navratri 2021 start and end date, sharad navratri 2021 complete calendar date

दुर्गा पूजा कलश स्थापना कब है 2021

घटस्थापना तिथि: - 7 अक्टूबर 2021, गुरुवार

शरद नवरात्रि के पहले दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप मां शैलपुत्री की पूजा होती है जो चंद्रमा का प्रतीक हैं। मां शैलपुत्री की पूजा करने से सभी बुरे प्रभाव और शगुन दूर होते हैं। इस दिन भक्तों को पीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए।

द्वितीया तिथि: - 8 अक्टूबर 2021, शुक्रवार

मां दुर्गा का दूसरा स्वरूप मां ब्रह्मचारिणी है और शरद नवरात्रि के दूसरे दिन इनकी पूजा का विधान है। मां ब्रह्मचारिणी मंगल ग्रह को प्रदर्शित करती हैं और जो भक्त मां ब्रह्मचारिणी की पूजा सच्चे दिल से करता है उसके सभी दुख, दर्द और तकलीफें दूर हो जाती हैं। मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करते समय हरे रंग के कपड़े पहनें।

तृतीया तिथि: - 9 अक्टूबर 2021, शनिवार

नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा होती है जो शुक्र ग्रह को नियंत्रित करती हैं। इनकी पूजा करने से शक्ति का संचार होता है तथा हर तरह के भय दूर हो जाते हैं। मां चंद्रघंटा की पूजा में ग्रे रंग का कपड़ा पहनें।

चतुर्थी तिथि: - 9 अक्टूबर 2021, शनिवार

शरद नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा का विधान है जो सूर्य देव को प्रदर्शित करती हैं। चतुर्थी तिथि पर संतरे रंग का कपड़ा पहनना शुभ माना जाता है। मां कुष्मांडा की पूजा करने से भविष्य में आने वाली सभी विपत्तियां दूर होती हैं।

पंचमी तिथि: - 10 अक्टूबर 2021, रविवार

बुध ग्रह को नियंत्रित करने वाली माता मां स्कंदमाता की पूजा शरद नवरात्रि के पांचवें दिन होती है। जो भक्त मां स्कंदमाता की पूजा करता है उसके ऊपर मां की विशेष कृपा बरसती है। पंचमी तिथि पर सफेद रंग का कपड़ा पहना अनुकूल माना जाता है।

षष्ठी तिथि: - 11 अक्टूबर 2021, सोमवार

शरद नवरात्रि की षष्ठी तिथि मां कात्यायनी को समर्पित है। इस दिन लाल कपड़े पहनकर मां कात्यायनी की पूजा करें जो बृहस्पति ग्रह को नियंत्रित करती हैं। मां कात्यायनी की पूजा करने से हिम्मत और शक्ति में वृद्धि होती है।

सप्तमी तिथि: - 12 अक्टूबर 2021, मंगलवार

इस दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है जो शनि ग्रह का प्रतीक हैं। मां कालरात्रि की पूजा करने से भक्तों में वीरता का संचार होता है। सप्तमी तिथि पर आपको रॉयल ब्लू रंग के कपड़े पहनने चाहिए।

अष्टमी तिथि: - 13 अक्टूबर 2021, बुधवार

अष्टमी तिथि पर महागौरी की पूजा करने का विधान है। इस दिन गुलाबी रंग का कपड़ा पहनना मंगलमय माना जाता है। माता महागौरी राहु ग्रह को नियंत्रित करती हैं और अपने भक्तों के जीवन से सभी नकारात्मक शक्तियों को दूर करती हैं।

नवमी तिथि: - 14 अक्टूबर 2021, गुरुवार

मां सिद्धिदात्री राहु ग्रह को प्रदर्शित करते हैं जिनकी पूजा करने से बुद्धिमता और ज्ञान का संचार होता है। नवमी तिथि पर आपको पर्पल रंग का कपड़ा पहनना चाहिए।

दशमी तिथि: - 15 अक्टूबर 2021, शुक्रवार

इस दिन शरद नवरात्रि का पारण होगा और मां दुर्गा को विसर्जित किया जाएगा। शरद दशमी तिथि को विजयदशमी के नाम से भी जाना जाता है।


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर