Parijat Plant vastu tips: घर में क्‍यों लगाएं हरसिंगार के फूल , जानें पारिजात के पेड़ के 5 वास्‍तु ट‍िप्‍स

आयुर्वेद में बताया गया है कि हरसिंगार का पौधा एक बहुत ही उत्तम औषधि है। वहीं वास्‍तु के अनुसार इसे लगाना बेहद शुभ माना जाता है।

parijat plant benefits, parijat plant amazing benefits, importance of parijat plant at home, 5 benefits of parijat plant, parijat plant ke fayde, parijat plant ke laabh, ghar ke liye parijat plant ke fayde, पारिजात पौधे के फायदे, पारिजात का पौधा का महत्व,
importance of parijat plant at home 

मुख्य बातें

  • हिन्दू धर्म में इस वृक्ष का बहुत महत्व माना जाता है।
  • पारिजात का पेड़ बहुत खूबसूरत होता है।
  • पारिजात के फूल को भगवान हरि के श्रृंगार और पूजन में प्रयोग किया जाता है।

पारिजात को हरसिंगार भी कहते हैं। आपने पारिजात के फूल का प्रयोग जरूर किया होगा, लेकिन शायद परिजात के गुण के बारे में नहीं जानते होंगे। पारिजात का पेड़ बाग-बगीचों में पाया जाता है। इसके फूल बहुत ही मनमोहक और आकर्षक होते हैं। आमतौर पर लोग हरसिंगार के फूल को केवल पूजा-पाठ के लिए इस्तेमाल करते हैं। लोगों को यह जानकारी ही नहीं है कि पारिजात या हरसिंगार के फायदे एक-दो नहीं बल्कि बहुत सारे हैं।

वास्‍तु शास्‍त्र में पारिजात का पौधा लगाने के फायदे 

  1. पारिजात का वृक्ष जिसके भी घर के आसपास होता है उसके घर के सभी तरह के वास्तुदोष दूर हो जाते हैं।
  2. पारिजात के फूलों को खासतौर पर लक्ष्मी पूजन के लिए इस्तेमाल किया जाता है लेकिन केवल उन्हीं फूलों को इस्तेमाल किया जाता है, जो अपने आप पेड़ से टूटकर नीचे गिर जाते हैं। जहां यह वृक्ष होता है वहां पर साक्षात लक्ष्मी का वास होता है।
  3. पारिजात के फूलों की सुगंध आपके जीवन से तनाव हटाकर खुशियां ही खुशियां भर सकने की ताकत रखते हैं। इसकी सुगंध आपके मस्तिष्क को शांत कर देती है। घर परिवार में खु‍शी का माहौल बना रहता है और व्यक्ति लंबी आयु प्राप्त करता है।
  4. पारिजात के ये अद्भुत फूल सिर्फ रात में ही खिलते हैं और सुबह होते-होते वे सब मुरझा जाते हैं। यह फूल जिसके भी घर-आंगन में खिलते हैं, वहां हमेशा शांति और समृद्धि का निवास होता है।
  5. वास्‍तु शास्‍त्र में माना गया है क‍ि पार‍िजात का पौधा जहां होता है, वहां नकारात्‍क शक्‍त‍ियों का वास नहीं होता।

पारिजात के पौधा का महत्व

सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि पारिजात का पौधा दिखने में बेहद ही खूबसूरत होता है। पारिजात के फूल को भगवान हरि के श्रृंगार और पूजन में प्रयोग किया जाता है, यही कारण है कि इसके फूल को को हरसिंगार के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दू धर्म में इस वृक्ष का बहुत महत्व माना जाता है। यही नहीं शास्त्रों में तो पारिजात को कल्पवृक्ष भी कहा गया है। कहा जाता है कि स्वर्गलोक में इसको स्पर्श करने का अधिकार सिर्फ उर्वशी नाम की अप्सरा को था। 

पारिजात को छूने मात्र से ही व्यक्ति की थकान मिट जाती है। पारिजात का वृक्ष ऊंचाई में दस से पच्चीस फीट तक का होता है। इसके इस वृक्ष की एक खास बात ये भी है कि इसमें बहुत बड़ी मात्रा में फूल लगते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर