Kashi Vishwanath: अब घर बैठे मिलेगा काशी विश्वनाथ मंदिर का प्रसाद, ऑनलाइन और ऑफलाइन होगी ऐसी सुविधा

आध्यात्म
आईएएनएस
Updated Jul 01, 2020 | 07:59 IST

Kashi Vishwanath Prasad at Home: वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर का प्रसाद अब लोगों को घर बैठे मिल सकेगा, इसके लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन व्यवस्था की जा रही है।

Prasad of Kashi Vishwanath temple will be available from home
घर बैठे मिलेगा काशी विश्वनाथ मंदिर का प्रसाद 

मुख्य बातें

  • घर बैठे प्राप्त होगा काशी विश्वनाथ मंदिर का प्रसाद
  • ऑनलाइन और ऑफलाइन उपलब्ध होगी सुविधा
  • श्रद्धालुओं के लिए शुद्धता का रखा जाएगा पूरा ध्यान

वाराणसी: काशी विश्वनाथ का प्रसाद अब भक्तों को घर बैठे मिलेगा। यह व्यवस्था ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से उपलब्ध होगी। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट ने डाक विभाग के सहयोग से मंगलवार को यह व्यवस्था शुरू कर दी। प्रसाद मंगाने के लिए किसी भी डाकघर से 251 रुपए का इलेक्ट्रानिक मनी आर्डर (ईएमओ) करना होगा। काशी में रहने वाले भक्त नीची बाग स्थित डाकघर में 201 रुपए देकर प्रसाद काउंटर से भी ले सकते हैं।

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने विश्वेश्वरगंज हेड पोस्ट ऑफिस में इसका उद्घाटन किया। कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए लागू लॉकडाउन आदि की वजह से बाबा के भक्तों को आने में दिक्कत हो रही है। ऐसे में सावन से ठीक पहले शुरू की जा रही योजना भक्तों के लिए बड़ी सौगात होगी।

मनी ऑर्डर भेजकर दे सकते हैं अपना पता:
पोस्ट मास्टर जनरल प्रणव कुमार ने बताया कि कोई भी श्रद्धालु 251 रुपए का इलेक्ट्रॉनिक मनी आर्डर भेजकर इसे मंगा सकता है। इसमें श्रदालु को नाम, पता, पिन कोड, मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी देना होगा। प्रसाद स्पीड पोस्ट होने के बाद उसकी जानकारी भी श्रद्धालुओं को मोबाइल नंबर पर दी जाएगी। साथ ही काउंटर से भी प्रसाद लिया जा सकता है

शुद्धता का रखा जाएगा ध्यान:
भक्तों तक पूरी शुद्धता के साथ प्रसाद पहुंचाने के लिए यह डिब्बा बंद तो होगा ही, टेंपर प्रूफ इनवेलप में भी पैक होगा। प्रसाद में श्री काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिग की छवि, महामृत्युंजय महायंत्र, शिव चालीसा, रुद्राक्ष की 108 दाने की माला, धातु का बेलपत्र, माता अन्नपूर्णा से अन्न याचना करते शिव अंकित सिक्का, रुद्राक्ष का एक दाना, भस्म, चंदन, रक्षासूत्र व मिश्री का पैकेट शामिल होगा।

प्रसाद की बुकिंग से लेकर डिलीवरी तक की प्रक्रिया की ट्रैकिंग होगी। इसके लिए अलग से एक सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है। प्रसाद के डिब्बे को जिस इनवेलप में सील किया जाएगा, उसमें किसी प्रकार के छेड़छाड़ की गुंजाइश नहीं होगी। इसके लिए टेंपर कवर का प्रयोग किया गया है।

पोस्टमास्टर जनरल ने बताया कि प्रसाद की इस व्यवस्था को री-लॉचिंग या री-पोजिशनिंग कह सकते हैं। यह वैल्यू एडिशन के साथ है। पहले की तुलना में अब जो प्रसाद श्रद्धालुओं को मिलेगा वह और दिव्य-भव्य होगा। इसकी लॉचिंग की घोषणा जल्द की जाएगी।

उन्होंने बताया कि भक्तों के मोबाइल नंबर पर स्पीड पोस्ट का विवरण एसएमएस के माध्यम से मिलेगा। इस संबंध में विशेष जानकारी भी भक्त 0542-2401630, 2504164 तथा ईमेल आईडी पर प्राप्त कर सकते हैं।

अगली खबर