Nag Panchami 2022 Date, Puja Timings: नाग पंचमी पर पूजा के लिए है इतने घंटे का समय, जानें पूजन मुहूर्त

Nag Panchami 2022 Date Kab Hai, Time, Puja Muhurat: नाग पंचमी का त्योहार सनातन धर्म में बेहद विशेष माना गया है। जानें वर्ष 2022 में यह तिथि कब है व पूजा मुहूर्त कब से प्रारंभ होगा। 

Nag Panchami 2022 Date, Time, Puja Muhurat, Nag Panchami 2022 Puja Muhurat
Nag Panchami 2022 Puja Muhurat (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • बेहद विशेष माना गया है नाग पंचमी का त्योहार।
  • हर वर्ष सावन शुक्ल पक्ष में मनाई जाती है नाग पंचमी।
  • नाग देवता के साथ इस दिन की जाती है शिव जी की पूजा।

Nag Panchami 2022 Date, Time, Puja Muhurat: सनातन धर्म में सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि का बहुत महत्व है। हर वर्ष इस तिथि पर नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। मान्यताओं के अनुसार, नाग पंचमी तिथि पर नाग देवता की पूजा करने से कालसर्प दोष से मुक्ति मिलती है। इस दिन नागों की पूजा करने के साथ उनका दूध से अभिषेक करने की परंपरा भी है। नाग पंचमी पर नागदेव के साथ भगवान शिव की पूजा आराधना भी शुभ मानी गई है। हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार, वासुकी नाग भगवान शिव की शोभा बढ़ाते हैं इसीलिए इस दिन भोलेनाथ की पूजा-आराधना करना भी लाभदायक माना गया है। 

Nag Panchami 2022 Date, Time And All You Need To Know

पौराणिक परंपराओं के अनुसार, नाग पंचमी पर नाग देवता को दूध और धान का लावा चढ़ाया जाता है। इस दिन विशेष उपाय करने से कालसर्प दोष से मुक्ति भी मिलती है। नाग पंचमी पर नाग देवता के साथ भगवान शिव का रुद्राभिषेक करना भी भक्तों के लिए अत्यंत कल्याणकारी माना गया है। अगर आप भी इस वर्ष नाग पंचमी का व्रत रख रहे हैं तो यहां जानें तिथि और पूजा के लिए शुभ मुहूर्त।

नाग पंचमी 2022 की तिथि और शुभ मुहूर्त  (Nag Panchami 2022 Date And Puja Muhurat)

वर्ष 2022 में नाग पंचमी 2 अगस्त को पड़ रही है। इस दिन पंचमी तिथि सुबह 5:14 से प्रारंभ होकर अगली सुबह यानी 3 अगस्त को 5:41 पर समाप्त हो जाएगी। 

Nag Panchami 2022 Date, Puja Muhurat: जानें कब है नाग पंचमी और क्या है पूजा मुहूर्त

नाग पंचमी 2022 पर पूजा के लिए मुहूर्त 

इस दिन पूजा के लिए भक्तों को तकरीबन 3 घंटे पूजा के लिए समय मिलेगा। नाग पंचमी पर सुबह 5:45 से 8:25 तक पूजा के लिए मुहूर्त बन रहा है। नाग पंचमी पर इस दिन विशेष संयोग बनने वाला है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दिन नाग पंचमी के साथ सावन महीने का तीसरा मंगला गौरी का व्रत भी रखा जाएगा। मंगला गौरी का व्रत सावन महीने के हर एक मंगलवार को रखा जाता है। इस दिन विधि अनुसार मां मंगला गौरी की पूजा करने का विधान है। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर