Nag panchami 2021 Date: सावन मास में किस दिन होगी नागों की पूजा, जानें नाग पंचमी 2021 की तिथि व मंत्र

Nag Panchami 2021: हर वर्ष सावन महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर नागों की पूजा की जाती है। यह तिथि हरियाली तीज के दो दिन बाद मनाई जाती है। देखें इस साल कब है नाग पंचमी।

nag panchami 2021 mein kab hai, nag panchami 2021 date in india, nag panchami kab hai, nag panchami kab hai 2021, nag panchami kis din hai, नाग पंचमी, नाग पंचमी 2021, नाग पंचमी कब है,
नाग पंचमी 2021 कब की है 

मुख्य बातें

  • श्रावण मास के शुक्ल पंचमी पर है नागों की पूजा का विधान, इस वर्ष 13 अगस्त के दिन पड़ रही है नाग पंचमी।
  • नाग पंचमी पर की जाती है हिंदू धर्म में उल्लेखित बारह नागों की पूजा, इनकी पूजा करने से मिलता है नाग देवता का आशीर्वाद।
  • नाग पंचमी पर अवश्य करें मंत्रों का जाप, मंत्रों का जाप करने से होती शुभ फल की प्राप्ति।

Nag Panchami 2021 : सनातन धर्म में नागों को बहुत शुभ माना गया है, कहा जाता है कि नागों की पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं तथा भक्तों की मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, हर वर्ष नाग पंचमी का पर्व श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर मानाया जाता है। अंग्रेजी पंचांग के अनुसार, यह तिथि अक्सर जुलाई या अगस्त महीने में पड़ती है। इस दिन व्रत रखा जाता है तथा नाग देवता की पूजा की जाती है।

यहां जानें, इस वर्ष नाग पंचमी (Nag Panchami 2021) किस तिथि पर पड़ेगी और किन मंत्रों का जाप करना चाहिए।

Nag panchami 2021 ki kab hai, Nag panchami 2021 ka, नाग पंचमी कब है 2021, नाग पंचमी 2021 डेट 

पंचमी तिथि प्रारंभ: - 12 अगस्त 2021 दोपहर (03:24)

पंचमी तिथि समापन: - 13 अगस्त 2021 दोपहर (01:42)

नाग पंचमी 2021 पूजा मुहूर्त: - सुबह 05:49 से लेकर सुबह 08:28 तक

नाग पंचमी के मंत्र, Nag Panchami Pujan Mantra

नाग पंचमी पर मंत्रों का जाप करना बहुत शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि मंत्रों के जाप से भगवान नाग देवता प्रसन्न होते हैं और अपना आशीर्वाद देते हैं। नाग पंचमी पर इन मंत्रों का जाप अवश्य करें।

सर्वे नागाः प्रीयन्तां मे ये केचित् पृथ्वीतले।
ये च हेलिमरीचिस्था येऽन्तरे दिवि संस्थिता:॥
ये नदीषु महानागा ये सरस्वतिगामिन:।
ये च वापीतडगेषु तेषु सर्वेषु वै नम:॥

अनन्तं वासुकिं शेषं पद्मनाभं च कम्बलम्।
शङ्ख पालं धृतराष्ट्रं तक्षकं कालियं तथा॥
एतानि नव नामानि नागानां च महात्मनाम्।
सायङ्काले पठेन्नित्यं प्रातःकाले विशेषत:।
तस्य विषभयं नास्ति सर्वत्र विजयी भवेत्॥

नाग पंचमी पर क‍िन नागों की पूजा होती है, 12 नाग कौन से हैं 

नाग पंचमी पर नागों को विशेष रूप से दूध अर्पित किया जाता है। नाग पंचमी पर हिंदू धर्म शास्त्रों में उल्लेखित बारह नागों की पूजा विशेष रूप से की जाती है। यह बारह नाग अनन्त, वासुकि, शेष, पद्म, कम्बल, कर्कोटक, अश्वतर, धृतराष्ट्र, शङ्खपाल, कालिया, तक्षक और पिङ्गल हैं।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर