Lal Kitab: सावन के महीने में जरूर करें लाल किताब के उपाय, भगवान शिव की बनी रहेगी विशेष कृपा

Lal Kitab Ke Upay: सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त कई तरह के उपाय करते हैं। ऐसे में सावन के महीने में लाल किताब के कुछ उपाय करने से सुख समृद्धि आती है।

lal kitab sawan
sawan 2022  |  तस्वीर साभार: Instagram
मुख्य बातें
  • सावन के महीने में भक्त भगवान शिव की आराधना में लीन हो जाते हैं
  • सावन के महीने में भक्त विधि विधान से पूजा करें तो भगवान शिव हर मनोकामना पूरी करते हैं
  • घर में सुख, समृद्धि व शांति के लिए भगवान शिव की विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं

Lal Kitab Upay In Sawan 2022: हिंदू धर्म में सावन के महीने का विशेष महत्व है। सावन का महीने में भगवान शिव की पूजा की जाती है। यह महीना भगवान शिव को अति प्रिय होता है। सावन के महीने में भक्त भगवान शिव की आराधना में लीन हो जाते हैं। ऐसी मान्यता है कि सावन के महीने में भक्त विधि विधान से पूजा करें तो भगवान शिव हर मनोकामना पूरी करते हैं। घर में सुख, समृद्धि व शांति के लिए भगवान शिव की विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं। वहीं ज्योतिष ग्रंथ लाल किताब में भी सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए विशेष उपाय बताए गए हैं, जिन्हें सावन के महीने में करने से जीवन में सभी परेशानियों से मुक्ति मिल सकती हैं। आइए जानते हैं लाल किताब के अनुसार सावन के महीने में किन उपायों को करना चाहिए...

Also Read- Sawan Recipe: व्रत भी होगा पूरा मूड भी रहेगा चटपटा, ऐसे तैयार करें सिंघाड़े के आटे के पकोड़े

शमी के पेड़ से करें ये उपाय
लाल किताब के अनुसार सावन महीने में शमी के पेड़ की जड़ भगवान भोलेनाथ को अर्पित करें। फिर इसे उठाकर अपनी तिजोरी में रख लें। माना जाता है कि इससे आर्थिक समस्याओं से मुक्ति मिलती है और धन की कभी कमी नहीं होती है।

बैल को खिलाएं हरा चारा
लाल किताब के अनुसार सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए बैल को हरा चारा खिलाना चाहिए। बैल को भगवान शिव के प्रिय नंदी का रूप माना गया है। ऐसा माना गया है सावन के महीने में बैल को चारा खिलाने से हर रुके काम अपने आप बनने लगते हैं।

Also Read-Janmashtami 2022: जानिए कृष्ण जन्माष्टमी के दिन क्यों श्री कृष्ण को लगता है धनिया की पंजीरी का भोग

विवाह में आ रही रुकावट तो करें ये उपाय
यदि शादी होने में लगातार कोई ना कोई और अड़चने आ रही है हो तो सावन के महीने में 11 बेलपत्र पर चंदन से शिव जी के मूल मंत्र 'ओम नमः शिवाय' लिखकर भगवान शिव को अर्पित करें। इससे शादी में आने वाली बाधाएं खत्म हो जाएगी और शादी का संयोग बनने लेंगे।

(डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर