Ganesh Chaturthi Date 2020: गणेश चतुर्थी कब है? जानिए विनायक चतुर्थी का मुहूर्त और महत्व

Vinayak Chaturthi 2020 Significance and Date: भारत में गणेश चतुर्थी का त्‍यौहार इस साल 22 अगस्त को मनाया जाएगा। इस अवसर पर गणेश जी की पूजा होती है। जानिए शुभ दिन का मुहूर्त और महत्व।

Ganesh Chaturthi Date and Significance
Ganesh Chaturthi Date and Significance  |  तस्वीर साभार: Instagram

मुख्य बातें

  • भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष में हुआ था भगवान गणेश का जन्म
  • मान्यता के अनुसार भगवान गणेश का जन्म दिन के मध्यकाल के दौरान हुआ था जन्म
  • इस साल 22 अगस्त को मनाया जाएगा गणेश चतुर्थी या विनायक चतुर्थी का त्यौहार

Ganesh Vinayak Chaturthi 2020: गणेश चतुर्थी इस साल 2020 में शनिवार, 22 अगस्त को मनाई जाएगी। गणेश चतुर्थी के त्यौहार को विनायक चतुर्थी के रूप में भी जाना जाता है, जो भगवान शिव और भगवान पार्वती के पुत्र भगवान गणेश को समर्पित सबसे महत्वपूर्ण हिंदू त्योहारों में से एक है। गणेश चतुर्थी भगवान गणेश के जन्म का प्रतीक है और उनकी पूजा करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण दिन माना जाता है। हिंदू धार्मिक पुस्तकों के अनुसार, भगवान गणेश का जन्म शुक्ल चतुर्थी पर भाद्रपद चंद्र महीने (अगस्त-सितंबर) के दौरान हुआ था।

गणेश चतुर्थी की तारीख और मुहूर्त (Ganesh Vinayak Chaturthi Date and Muhurat)

गणेश चतुर्थी पूजा शनिवार, 22 अगस्त, 2020 को की जाएगी। गणेश पूजा दोपहर के दौरान की जाती है, क्योंकि यह माना जाता है कि भगवान गणेश का जन्म मध्याह्न काल के दौरान हुआ था।

मध्याह्न गणेश पूजा मुहूर्त 2020 सुबह 11:06 बजे से शुरू होकर दोपहर 01:42 बजे तक रहेगा। इस दिन ही लोग गणपति की मूर्तियां लाकर अपने घरों में रखते हैं। मूर्ति विसर्जन मंगलवार, 1 सितंबर, 2020 को किया जाएगा।
चतुर्थी तिथि शुरू - 11:02 PM, 21 अगस्त, 2020
चतुर्थी तिथि समाप्त -  07:57 PM, 22 अगस्त 2020

गणेश चतुर्थी / विनायक चतुर्थी का महत्व (Vinayak Chaturthi Significance):

ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश का जन्म मध्यकाल में हुआ इसलिए दोपहर के दौरान गणेश पूजा को प्राथमिकता दी जाती है। हिंदू परंपरा में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच की अवधि को पांच समान भागों में विभाजित किया गया है। इन पांच भागों को प्रथक्काल, संघवा, मध्यमहना, अपर्णा और सयांकल के नाम से जाना जाता है।

गणेश चतुर्थी पर गणपति स्थापना और गणपति पूजा दिन के मध्य भाग में की जाती है और वैदिक ज्योतिष के अनुसार गणेश पूजा के लिए यह सबसे उपयुक्त समय माना जाता है। गणेश भक्त इस समय विस्तृत अनुष्ठानपूर्ण गणेश पूजा करते हैं, इसे षोडशोपचार गणपति पूजा के तौर पर जाना जाता है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर