Ganesh Chaturthi 2022 Ganesha Body Secret: गणपति के बड़े कान और छोटी आंख से मिलता है दुनियादारी का ये संकेत

Ganesh Chaturthi 2022 Ganesha Body Secret: भगवान गणेश अपनी अद्भुत काया और अद्भुत शारीरिक बनावट के लिए जाने जाते हैं। शरीर के अंगों के कारण ही उन्हें कई नाम भी मिले। लेकिन भगवान गणेश के शरीर के अंग दुनियादारी के संकेत देते हैं। जानते हैं कि गणेश जी के शारीरिक अंगों में दुनियादारी के क्या रहस्य छिपे हुए हैं।

Ganesh Chaturthi 2022 Ganesha Body Secret
भगवान गणेश के शरीर के अंग सिखाते हैं दुनियादारी के नियम 
मुख्य बातें
  • गणेश जी के अद्भुत शरीर के अंगों से मिलते हैं दुनियादारी के संकेत
  • गणेश जी के सूप के समान बड़े कान सिखाता है बुरी चीजों छांटना
  • दीर्घदृष्टि का सूचक मानी जाती है गणपति की छोटी आंखें

Ganesh Chaturthi 2022 Ganesha Body Secret: गणेश चतुर्थी की शुरुआत होने वाली है और गणेश महोत्सव के लिए लोग इसकी तैयारियों में जोर-शोर से जुट गए हैं। बुधवार 31 अगस्त 2022 को भगवान गणेश के जन्मोत्सव के रूप में गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जाएगा। गणेशोत्सव देश और दुनियाभर में बड़े ही धूमधाम के साथ मनया जाता है। भगवान गणेश सभी देवताओं में प्रथम पूज्य और विघ्नहर्ता कहे जाते हैं। क्योंकि सभी देवी-देवताओं में उनकी पूजा सबसे पहले की जाती है। गणेश जी की लीलाएं जितनी अनोखी और अद्भुत है, उनका शरीर भी ठीक वैसा ही है। गणेश जी को उनके शरीर की अद्भुत रचना के कारण भी जाना जाता है। अद्भुत शारीरिक बनावट के कारण ही उन्हें कई नाम भी मिले।

जैसे एक दांत के कारण उन्हें एकदंत कहा जाता है, बड़े पेट के कारण उन्हें लंबोदर कहा जाता है। भगवान गणेश के शरीर के अंगों में कई रहस्य छिपे हैं जो दुनियादारी और जीवन को सही दिशा देने की सीख देते हैं। जानते हैं भगवान गणेश के बड़े-बड़े कान छोटी आंखों से दुनियादारी का कौन सा संकेत मिलता है।

Also Read:Ganesh Chaturthi 2022 Famous Temple: सिद्धि विनायक से लेकर डोडा गणपति तक, ये हैं भगवान गणेश के प्रमुख मंदिर

गणेश जी का बड़ा कान है इस बात का संकेत

आपने गणेश जी सभी प्रतिमा या तस्वीरों में देखा होगा कि उनके हाथी के समान बड़े-बड़े कान होते हैं। गणेश जी के बड़े कानों में कई गुण होते हैं। सूप (फटकनी) के समान गणेश जी के कान इस बात का संकेत है कि , जिस तरह से सूप छिलके को छांटकर अन्न (सत्व) को अपने पास बचाए रखता है। उसी तरह से हमें भी कही या सुनी बातों में अच्छे सार वाले को अपनाना चाहिए और बाकी या बुरे सार को छोड़ देना चाहिए।

Also Read: Ganesh Chaturthi 2022 Bappa Morya Story: सबसे पहले किसने कहा गणपति बप्पा को 'मोरया', जानिए ये कथा

गणेश जी की छोटी आंखें

विज्ञान के अनुसार छोटी आंखों वाले व्यक्ति चिंतनशील और गंभीर प्रकृति के होते हैं। भगवान गणेश की छोटी आंखें दीर्घदृष्टि का सूचक मानी जाती है। गणपति की छोटी आंखों से इस बात का संकेत मिलता है कि हर चीज को सूक्ष्मता से देखना चाहिए और परखना चाहिए। इसके बाद ही कोई निर्णय लेना चाहिए।

(डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर