Chanting Five Mantra: इन 5 चमत्कारी मंत्रों का रोजाना करें जाप, तुरंत होगा हर संकट का अंत

Chamatkari Mantra Ka Jaap: शास्त्रों में मंत्रों का विशेष महत्व होता है। मंत्रों का जाप पुराणों से होता रहा है। हिंदू धर्म में हर एक मंत्र किसी ना किसी देवी-देवताओं को समर्पित है। इन मंत्रों का जाप करने से सारे दुख कष्ट समाप्त हो जाते हैं।

Hindu Mantra
Vastu Tips  |  तस्वीर साभार: Instagram
मुख्य बातें
  • मंत्रों का जाप मनुष्य की हर पीड़ा को समाप्त कर देता है
  • हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि इन मंत्रों में देवी देवताओं की ऐसी शक्ति समाई होती है जिससे सारा कष्ट दूर हो जाता है
  • हर मंत्र देवी देवताओं को समर्पित है

Chanting Powerful Mantra: हिंदू धर्म में मंत्र के कई महत्त्व होते हैं। मंत्र का अर्थ है मन को तंत्र में बांधना। मंत्रों में इतनी ताकत होती है कि यह चिंता व अनावश्यक विचारों को मन में आने से रोकता है। मंत्रों का जाप मनुष्य की हर पीड़ा को समाप्त कर देता है। हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि इन मंत्रों में देवी देवताओं की ऐसी शक्ति समाई होती है जिससे सारा कष्ट दूर हो जाता है। हर मंत्र देवी देवताओं को समर्पित है। अलग-अलग देवी-देवताओं के लिए हिंदू धर्म में अलग-अलग मंत्रों का उच्चारण होता है। प्रतिदिन मंत्रों का जाप करने से मन की शांति ही नहीं बल्कि सभी संकटों से भी मुक्ति मिल जाती है। मंत्र का जाप करते समय मंत्रों का सही उच्चारण और शब्दों का स्पष्ट होना जरूरी है। आइए जानते हैं ऐसे पांच चमत्कारी मंत्रों के बारे में जिसका जाप करने से हर संकट का अंत हो जाता है और चारों तरफ सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है।

पढ़ें- सोते समय इन चीजों से रहें दूर, वरना झेलनी पड़ेगी नींद न आने की समस्या

सुखी जीवन के लिए इस मंत्र का करें जाप

ज्योतिष के मुताबिक सुखी जीवन व अच्छे स्वास्थ्य के लिए सूर्य की उपासना करनी चाहिए। सुबह उठकर स्नान करने के बाद सूर्य को अर्घ्य देते वक्त नियमित रूप से 'ऊँ सूर्याय नमः ऊं वासुदेवाय नमः ऊं आदित्याय नमः' का जप करें। इससे 

कानूनी मामले से छुटाकारा दिलाएगा ये मंत्र

कानून, अदालत व मुक़दमेबाजी से मुक्ति के लिए श्री भैरव की उपासना करें। हर रविवार को भैरव जी के मंदिर जाएं। उन्हें नारियल या सफेद मिठाई अर्पित करें। रोज शाम को भैरव देव के मन्त्र का जप करें। मन्त्र है 'ॐ भं भैरवाय अनिष्टनिवारणाय स्वाहा।'

चिंतामुक्त जीवन के लिए जपे ये जाप

ॐ नम: शिवाय। इस मंत्र का निरंतर जप करते रहने से चिंतामुक्त जीवन मिलता है। यह मंत्र जीवन में शांति और शीतलता प्रदान करता है। इस मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर जल व बिल्वपत्र चढ़ाएं व रुद्राक्ष की माला से जप भी करें।

इस मंत्र से होगा बुद्धि में विकास

भगवान गणपति बुद्धि और समझदारी के देवता हैं। इनकी पूजा उपासना करके कोई भी अत्यंत तीव्र बुद्धि और विद्या की प्राप्ति कर सकता है। गणपति जी का मंत्र 'ॐ बुद्धिप्रदाये नमः' का हर बुधवार 108 बार जाप करने से बुद्ध में विकास होता है।

हनुमान जी के जाप से बनने लगेंगे बिगड़े काम

शांतिदायक मंत्र : श्री राम, जय राम, जय जय राम। यह मंत्र हर मंगलवार जपना चाहिए। हनुमानजी भी राम नाम का ही जप करते रहते हैं। कहते हैं राम से भी बढ़कर श्रीराम का नाम है। इस मंत्र का निरंतर जप करते रहने से मन में शांति बनी रहती है। इसके साथ ही बिगड़ते काम बनने लगते हैं।

(डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता है।) 
 

देश और दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | अध्यात्म (Spirituality News) की खबरों के लिए जुड़े रहे Timesnowhindi.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए Subscribe करें टाइम्स नाउ नवभारत YouTube चैनल

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर