CID Officer: राज्‍यों की खुफिया विभाग है CID, जानें, कैसे बनें सीआईडी ऑफिसर और क्‍या चाहिए योग्‍यता

CID Officer: देश की तरह खुफिया विभागों की तरह राज्‍यों की भी खुफिया विभाग होता है, जिसे सीआईडी कहा जाता है। इस विभाग में शामिल अधिकारी उन अपराधों की जांच पड़ताल करते हैं, जो आम पुलिस नहीं कर पाती है। ये हर तरह की वारदात को सुलझाने में माहिर होते हैं।

CID Officer
सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए जरूरी एजुकेशन और योग्‍यता   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए ग्रेजुएशन पूरा करना है जरूरी
  • ये जटिल अपराधों की छानबीन कर अपराधियों को सजा दिलाते हैं
  • सीआईडी को अपराध के अनुसार कई ब्रांच में बांट कर होता है कार्य

CID Officer: लाखों युवाओं का सपना होता है कि वे देश की सुरक्षा एजेंसियों में शामिल होकर शानदार करियर बनाए। इस तरह के करियर रोमांच के साथ देश सेवा करने का मौका भी मिलता है। इसी तरह की सुरक्षा एजेंसियों में सीआईडी (क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट) भी शामिल है। इस विभाग में काम करने वालों को आम बोलचाल में सीआईडी ऑफिसर कहा जाता है। देश में सीआईडी की स्थापना ब्रिटिश सरकार द्वारा सन् 1902 में किया गया था। सीआईडी राज्य सरकारों की गुप्‍तचर विभाग होता है और उसी के आदेश पर काम करती है। कई राज्‍यों में सीआईडी को क्राइम ब्रांच और स्‍पेशल ब्रांच के बीच बांट गया है।

इनका मुख्‍य कार्य जटिल से जटिल अपराधों की छानबीन कर अपराधियों को सजा दिलाना होता है। सीआईडी ऑफिसर ऐसे अपराधों की जांच करते हैं जो आम पुलिस नहीं कर पाती है। ये ऑफिसर कभी भी कोई विशेष वर्दी पहनकर काम नहीं करते। ये सिविल ड्रेस में कार्य करते हैं। अगर आप भी सीआईडी ऑफिसर के रूप में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो यहां हम आपको एक सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए जरूरी एजुकेशन, योग्‍यता व करियर के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

सीआईडी ऑफिसर का कार्य

सीआईडी ऑफिसर के मुख्‍य कार्य में बलात्कार, हत्या, गंभीर हमले, दंगे और धोखाधड़ी जैसे बड़े और जटिल अपराधों की जांच शामिल होती है। इसमें इन्‍हें पूरी जानकारी एकत्रित करने के साथ सबूत इकठ्ठे करना बेहद जरूरी होता है। ये सूचनाओं का आदान-प्रदान करने जैसे जांच कार्यों का पालन करते हैं और यह भी सुनिश्चित करते हैं कि जांच प्रक्रिया पूरी हो सके।

RRB Group D 2022 Exam: घोषित हुई आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा की तारीख, यहां डाउनलोड कर सकेंगे एडमिट कार्ड

एजुकेशन व योग्‍यता

सीआईडी ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार का ग्रेजुएट होना जरूरी होता है। जिसके बाद सरकारी द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षाओं में बैठना होता है। यहां उम्‍मीदवार को लिखित परीक्षा, फिजिकल परीक्षा और इंटरव्‍यू से गुजरना होता हैतब इसके बाद मेरिट लिस्‍ट के आधार पर आवेदनकर्ता को पद के लिए चुना जाता है। इन पदों पर आवेदन की आयु 20 वर्ष से लेकर 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए। सीआईडी ऑफिसर बनने के लिये पुरुषों की हाईट 165 सेमी और महिलाओं की हाईट 150 सेमी होना जरूरी है।

सीआईडी ऑफिसर जॉब प्रोफाइल

फ्रॉड इन्वेस्टिगेटर

सीआईडी में हर तरह के आपराधिक मामलों की जांच के लिए अगल-अलग विभाग होते हैं। इसमें से ही एक फ्रॉड इन्वेस्टिगेटर है। ये धोखाधड़ी से संबंधित मामलों में शिकायतकर्ताओं, नियोक्ताओं और गवाहों से तथ्य, बयान या स्वीकारोक्ति के बयान जुटा कर मामले की जांच करते हैं।

REET 2022 Answer Key: इस दिन जारी होगी रीट 2022 आंसर की, देखें कैटेगिरी वाइज कटऑफ

इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर

इनका मुख्‍य कार्य लोगों से पूछताछ कर घटना की जांच-पड़ताल कर सबूत इकठ्ठे करना है। जिससे अपराध के संदिग्धों पर मुकदमा चलाकर उन्‍हें दोषी ठहराया जा सके। ये हर तरह के मामले की जांच करते हैं।

क्रिमिनोलॉजिस्ट

क्रिमिनोलॉजिस्ट का कार्य रिसर्च करना, थ्‍योरी विकसित करना और अपराध के दृश्यों की जांच करते हुए रिपोर्ट तैयार करना हैं। साथ ही वे आपराधिक व्यवहार को पहचानने और समझने में कानून प्रवर्तन की सहायता के लिए अपनी विश्लेषणात्मक भूमिका का इस्‍तेमाल करते हैं।

नारकोटिक्स ऑफिसर

ये अवैध ड्रग के उपयोग और वितरण को रोकने में माहिर होते हैं। नारकोटिक्स अधिकारी ड्रग्‍स से संबंधित मामलों में रिपोर्ट दर्ज करने के साथ साक्ष्यों के आधार पर मामले की जांच करते हैं। इनका मुख्‍य कार्य नशीली दवाओं की रोकथाम करना है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर