Career In NGO: एनजीओ दे रहे करियर के बेहतर मौके, अच्‍छी जॉब के साथ देश सेवा का शानदार मौका

Career In NGO: समाज सेवा के क्षेत्र में युवाओं को शानदार करियर बनाने के कई मौके मिल रहे हैं। सबसे ज्‍यादा अवसर एनजीओ प्रदान कर रहे हैं। छात्र 12वीं के बाद सोशल वर्क का कोर्स कर इस क्षेत्र में करियर बना सकते हैं। यहां पर एनजीओ के अलावा सरकारी क्षेत्र की कई संस्‍थाएं भी जॉब का अवसर देती हैं।

Career In NGO
समाज सेवा और एनजीओ में कोर्स और करियर ऑप्‍शन   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • 12वी व ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं सोशल वर्क का कोर्स
  • एनजीओ के साथ सरकारी संस्‍थाओं में कार्य करने का अवसर
  • समाज सेवा के क्षेत्र में आने के लिए कई स्किल हैं जरूरी

Career In NGO: समाज सेवा का क्षेत्र अब सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए इस्‍तेमाल होने वाला क्षेत्र नहीं रह गया है। अब यह हजारों ऐसे हाई एजुकेटेड युवा मौजूद हैं जो दिल से समाज सेवा करने के साथ इसे अपना करियर भी बनाना चाहते हैं। समाज सेवा को करियर बनाने में सबसे बड़ा योगदान दिया है देश-विदेश की हजारों एनजीओ ने। देखते ही देखते अब यह सेक्‍टर युवाओं के लिए बेहतर करियर ऑप्शन बन चुका है। युवाओं के लिए एनजीओ मैनेजमेंट के क्षेत्र में जॉब हासिल करने की काफी संभावनाएं हैं। इसलिए बड़ी तादाद में यंगस्टर्स इसे अपने करियर विकल्प के तौर पर देख रहे हैं।

एनजीओ का उद्देश्‍य व कोर्स

एनजीओ का मुख्य उद्देश्य सामाजिक समस्याओं का निदान कर विकास को बढ़ावा देना है। इस फील्ड में बाल विकास, मानवधिकार, महिला समस्या व उत्‍थान, स्वास्थ्य, सामाजिक, कृषि, शिक्षा, पर्यावरण और संस्कृति आदि क्षेत्र मौजूद हैं, जहां पर कार्य किया जा सकता है। 12वीं व ग्रेजुएशन के बाद इस सेक्‍टर में कई ऐसे कोर्स मौजूद हैं, जिसे पूरा कर एनजीओ के सेक्‍टर में करियर बनाया जा सकता है। 12वीं के बाद छात्र बैचलर ऑफ सोशल वर्क कर सकते हैं। इसके बाद मास्टर ऑफ सोशल वर्क, डिप्लोमा इन एनजीओ मैनेजमेंट और सर्टिफिकेट कोर्स इन एनजीओ मैनेजमेंट का ऑप्‍शन है।

Career In Translation: फॉरेन लैंग्वेज ने खोले करियर के नए दरवाजे, ऐसे बनाएं ट्रांसलेटर के तौर पर शानदार करियर

कोर्स के लिए प्रमुख संस्थान-

  • काशी विद्यापीठ, वाराणसी
  • इग्नू, पत्राचार माध्यम द्वारा
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, हरियाणा
  • राजस्थान विद्यापीठ, उदयपुर
  • पंजाब विश्वविद्यालय, पटियाला
  • लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ
  • जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली
  • टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस, मुम्बई
  • जेवियर इंस्टीट्यूट, ऑफ सोशल साइंसेज, रांची

JEE Main Result 2022 Release Date: जारी हो गई JEE Main सेशन 2 आंसर की, जानें कब आएंगे परिणाम

जरूरी स्किल

एनजीओ के क्षेत्र में अपना करियर बनाने की तरफ बढ़ने से पहले युवाओं को यह ध्‍यान रखना चाहिए कि यह ऐसी जॉब है, जिसमें आपको ऑफिस में बैठकर जॉब करने का मौका नहीं मिलेगा। इस सेक्‍टर में कार्य करने के लिए ग्रामीण परिवेश में सामूहिकता के माहौल में काम करने के अनुभव की जरूरत पड़ती है। इसके अलावा आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स अच्‍छी होने के साथ स्थानीय भाषा की जानकारी भी जरूरी है।

यहां है करियर संभावनाएं

कोर्स पूरा करने के बाद युवा किसी भी एनजीओ के साथ जुड़कर एनजीओ मैनेजर, एनजीओ ह्यूमन रिसोर्स, फाइनेंस मैनेजर, प्रोजेक्ट कोर्डिनेटर जैसे कई पदों पर कार्य कर सकते हैं। इसके अलावा मिनस्ट्री ऑफ यूथ अफेयर, एफएआरएम, फिक्की, एसओएस विलेज जैसे संस्‍थानों में अच्‍छी सैलरी वाली जॉब हासिल की जा सकती है। इसके अलावा भारत सरकार के एड्स अवेयरनेस प्रोजेक्ट, स्ट्रीट चिल्ड्रन एजुकेशन, ड्रग रिहेबिलिटेशन सेंटर, चाइल्ड अब्यूज प्रिवेंशन कमेटी,  ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यक्रम और सेक्स वर्कर फोरम आदि में भी काम के अवसर मिलते हैं।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर