Ranchi Suicide: वो लिपस्टिक से लिख गई अपने अधूरे प्यार की पूरी कहानी, जानिए रांची की इस युवती का दर्द

Ranchi Police: राजधानी में आत्महत्या की घटनाओं में काफी वृद्धि हो रही है। आज अलग-अलग जगहों पर एक महिला और एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। महिला ने अपनी आत्महत्या का जिम्मेदार अपने पति समेत ससुराल वालों को ठहराया है। उसने सुसाइट नोट में इस बारे में जिक्र किया है। दूसरी ओर युवक अपनी मां की साड़ी से फंदा बनाकर झूल गया।

Husband used to give lewd abuses, he gave his life
पति देता था भद्दी-भद्दी गालियां तो दे दी जान  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • शहर के खलारी थाना क्षेत्र के डकरा गांव की घटना, मृतका की पहचान चंदा देवी के रूप में हुई
  • बंद कमरे के चारों ओर दीवार पर लिपिस्टिक से लिखी है मौत की वजह
  • 2019 में चंदा ने सीसीएल कर्मी दिलीप चौहान से की थी शादी

Ranchi Crime News: रांची में आज दो लोगों ने आत्महत्या कर ली। पहला मामला खलारी थाना क्षेत्र के डकरा गांव का है। यहां चंदा देवी ने कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। उसने बंद कमरे के चारों ओर दीवार पर लिपिस्टिक से मौत की वजह लिखी है। महिला ने अपनी मौत का जिम्मेदार पति और ससुराल वालों को ठहराया है। 

चंदा ने 2019 में सीसीएल कर्मी दिलीप चौहान से प्रेम विवाह किया था। शादी के बाद कुछ दिनों तक सबकुछ ठीक-ठाक चल रहा था। फिर पति-पत्नी में अनबन होने लगी। अक्सर दोनों छोटी-छोटी बात पर झगड़ने लगे थे। परिजनों ने दोनों को काफी समझाने-बुझाने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं बन रही थी। 

चंदा के परिजनों ने थाने में की थी शिकायत

पति-पत्नी का झगड़ा बढ़ने पर चंदा के परिजनों ने पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवाई थी। चंदा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि पति दिलीप हमेशा उसके साथ मारपीट करता है। उसे भद्दी-भद्दी गालियां देता है, जिससे तंग आकर वह मौत को गले लगा रही है।

मां ने बेटे को फंदे से झूलता देखा

आदित्यपुर थाना क्षेत्र के मोती नगर रोड नंबर दो गम्हरिया में 18 वर्षीय सुमित गिरोई ने आत्महत्या कर ली। युवक अपनी मां प्रभावती देवी की साड़ी से फंदा बनाकर झूल गया। आज सुबह पांच बजे मां ने उसे फंदे से झूलता देखा तो आवाक रह गई। मां की चीख सुनकर सुमित का बड़ा भाई, पिता एवं पड़ोस के लोग पहुंचे और उसे फंदे से नीचे उतारा। दरअसल, सुमित नशा करने का आदी था। 

एमजीएम अस्पताल पहुंचने से पहले मौत

जब परिजनों ने सुमित को फंदे से उतारा था तो उसकी सांसें चल रहीं थीं। परिजन उसे लेकर गम्हारिया स्थित टीचर ट्रेनिंग स्कूल के पास सीएचसी लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टर ने उसे दूसरे अस्पताल लेकर जाने के लिए कहा। परिवार वाले सुमित को लेकर एमजीएम अस्पताल पहुंचे, लेकिन उसकी मौत हो गई थी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर