ROB Construction: रांची के एफएफपी के पास आरओबी निर्माण के प्रस्ताव में फिर बदलाव, अब ये हुआ परिवर्तन

proposal changed: रांची में प्रस्तावित एचईसी के एफएफसी प्लांट के पास आरओबी निर्माण के प्रस्ताव में फिर बदलाव हुआ है। रेलवे अभियंता ने एक नया प्रस्ताव दिया है। इसके आरओबी की चौड़ाई बढ़ा दी गई है।

Changed proposal for construction of ROB in Ranchi again
रांची में आरओबी निर्माण का फिर बदला प्रस्ताव  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • चांदनी चौक से रेलवे क्रॉसिंग तक 650 मीटर लंबा एवं 24 मीटर चौड़ा आरओबी बनाने का प्रस्ताव
  • एचईसी अंडरपास के बगल में एक नया अंडरपास भी बनाने का सुझाव
  • यह प्रस्तावित रेलवे ओवरब्रिज फोरलेन का होगा

construction proposal: रांची में एचईसी के एमएफसी प्लांट स्थित रेलवे क्रॉसिंग के पास रेलवे ओवरब्रिज का प्रस्ताव दूसरी बार बदला गया है। अब रेलवे के अभियंता ने नया प्रस्ताव फिर बनाकर भेजा है। इसमें बताया गया है कि चांदनी चौक से रेलवे फाटक तक 650 मीटर लंबा रेलवे ओवरब्रिज बनाया जाए। जबकि इसकी चौड़ाई 24 मीटर होगी। इसके अलावा एचईसी अंडरपास के बगल में नया अंडरपास बनाया जाना चाहिए।  

रेल इंजीनियर ने राज्य सरकार की ओर से दक्षिण-पूर्व रेल मुख्यालय को नया प्रस्ताव भेजा जाएगा। बता दें कि पहले रेल फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज बनाने का प्रस्ताव रेलवे की ओर दिया गया था। मगर स्मार्ट सिटी के कारण राज्य सरकार द्वारा रेलवे ओवरब्रिज की जगह बदलने की बात कही गई थी। इस पर रेलवे के अधिकारियों ने दोबारा स्थल निरीक्षण कर मौजूदा फाटक से हटाकर 60 मीटर दूर आरओबी बनाने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था। इसी प्रस्ताव को रेलवे दक्षिण-पूर्व रेलवे मुख्यालय को मंजूरी के लिए भेजा था। 

बजट के रूप में 40 करोड़ रुपए हुए स्वीकृत

इस प्रस्ताव पर रेलवे द्वारा बजट के रूप में 40 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए थे। मगर, स्मार्ट सिटी के कारण दूसरे प्रस्ताव को मंजूरी मिलने का इंतजार है। इस बारे में डीआरएम प्रदीप गुप्ता का कहना है कि रेलवे क्रॉसिंग बनना है, पर नया प्रस्ताव मेरे पास नहीं आया है। ट्रेनों के गुजरने पर फाटक को बंद किया जाता है। इससे दोनों ओर जाम लग जाता है। आरओबी बनने के बाद चांदनी चौक से एचईसी आवासीय परिसर आने-जाने वाले लोगों को जाम से मुक्ति मिल जाएगी। इस कारण शहर के एक बड़े हिस्से में रहने वाले लोगों को यातायात समस्या से निजात मिलेगी, क्योंकि रेल फाटक पर लगने वाले जाम से पूरे शहर में जाम की समस्या बढ़ जाती है। लंबे समय से रेलवे ओवरब्रिज निर्माण की कवायद चल रही है। मगर, अब तक इसे मूर्त रूप नहीं दिया जा सका है। अब दोबारा प्रस्ताव बनने और इसकी स्वीकृति में काफी समय लगेगा। 
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर