Ranchi: आईएमएस में अब बनाया जाएगा लैंग्वेज लैब, जानें निर्माण पर कितना होगा खर्च

Ranchi News: राजधानी के छात्र-छात्राओं के लिए बेहद अच्छी खबर है। अब वह कई सारी भाषाओं की जानकारी आसानी से हासिल कर सकेंगे। रांची विश्वविद्यालय में लैंग्वेज लैब बनेगी। इसका निर्माण जल्द ही शुरू होगा।

Language lab to be built in Ranchi University
रांची विश्वविद्यालय में बनेगा लैंग्वेज लैब  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • रांची विश्वविद्यालय के आईएमएस में बनाया जाएगा लैब
  • लैब निर्माण के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन से 43 लाख रुपए हुए मंजूर
  • आरयू के वीसी ने वोकेशनल कोर कमेटी की बैठक में प्रस्ताव को दी मंजूरी

Ranchi University News: रांची विश्वविद्यालय में अब लैंग्वेज लैब खुलेगा। यह लैब विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (आईएमएस) में बनाया जाना है। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने 43 लाख रुपए स्वीकृत कर दिए हैं। दरअसल, सोमवार को कुलपति डॉ. कामिनी कुमार ने वोकेशनल कोर कमेटी की बैठक में लैंग्वेज लैब खोले जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इसका प्रस्ताव आईएमएस ने दिया था। इन्होंने लाइब्रेरी के ऑटोमेशन का भी प्रस्ताव दिया था, जिस पर निर्णय हुआ कि विश्वविद्यालय की सेंट्रल लाइब्रेरी के ऑटोमेशन के बाद आईएमएस की लाइब्रेरी का ऑटोमेशन कराया जाएगा। 

बैठक में तय हुआ कि सभी वोकेशनल कोर्स के सभी विभागों में 10 गेस्ट फैकल्टी ही रहेंगी। इससे ज्यादा गेस्ट फैकल्टी नहीं रखी जाएंगी। इधर, रांची वीमेंस कॉलेज ने स्मार्ट बोर्ड की जगह डिजिटल बोर्ड मांगा गया। इस पर निर्णय हुआ कि डिजिटल बोर्ड खरीदा जा सकता है। लैंग्वेज लैब से विद्यार्थियों को विभिन्न भाषाओं पर पकड़ बनाने में आसानी होगी। इससे विद्यार्थियों में आत्मविश्वास  बढ़ेगा। इसके साथ ही छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं में मदद मिलेगी और वह अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे।

नामांकन बढ़ाने के लिए विभागों को भेजा जाएगा पत्र

कुलपति ने तय किया है कि जिन विभागों में कम नामांकन हुए हैं, उनको नामांकन बढ़ाने के लिए पत्र भेजा जाएगा। यह सभी विभाग वोकेशनल कोर्स के हैं। इनमें परफॉर्मिंग एंड फाइन ऑर्ट्स, आर्कियोलाजी एंड म्यूजियोलॉजी, रूरल डेवलपमेंट, ह्यूमन राइट्स, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन शामिल हैं। 

आईएलएस में नियुक्त होंगे स्थायी निदेशक

कुलपति की अध्यक्षता में हुई बैठक में इंस्टीटयूट ऑफ लीगर स्टडीज के लिए स्थाई निदेशक एवं फैकल्टी की नियुक्ति का मुद्दा उठा। इसके अलावा फिल्म मेकिंग कोर्स के लिए दो फैकल्टि एवं तकनीशियन की नियुक्ति पर भी चर्चा की गई। निर्णय हुआ कि पंचायत चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के बाद नियुक्तियों के लिए राजभवन से मंजूरी ली जाएगी। फिर नियुक्ति से जुड़ा विज्ञापन निकाल दिया जाएगा। आईएमएस की ओर से ऑनलाइन नामांकन प्रक्रिया शुरू करने का भी प्रस्ताव दिया गया, जिस पर फिलहाल कोई सहमति नहीं बन सकी। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर