Bihar Assembly Elections 2020: क्या एनडीए बिहार में 2019 लोक सभा चुनाव परिणाम को दोहरा पाएगा?

पटना समाचार
बीरेंद्र चौधरी
बीरेंद्र चौधरी | न्यूज़ एडिटर
Updated Oct 20, 2020 | 08:56 IST

बिहार में तीन चरणों में चुनाव संपन्न होंगे और 10 नवंबर को औपचारिक नतीजा आएगा। लेकिन आम हो या खास हर कोई जानना चाहता है कि क्या एनडीए 2019 के आम चुनावों के नतीजे को दोहरा पाएगी।

Bihar Assembly Elections 2020: क्या एनडीए बिहार में  2019 लोक सभा चुनाव परिणाम को दोहरा पाएगा?
बिहार में तीन चरणों में हो रहे हैं चुनाव 

मुख्य बातें

  • बिहार विधानसभा का चुनाव तीन चरणों में संपन्न होगा
  • 28 अक्टूबर को पहला चरण, 3 नवंबर को दूसरा चरण और 7 नवंबर को तीसरा चरण
  • 10 नवंबर को सभी 243 सीटों के आएंगे नतीजे

बिहार विधान सभा चुनाव 2020 को लेकर जितने भी ओपिनियन पोल हुए हैं उन सबमें एक समानता है कि बिहार में एनडीए फिर से सत्ता में वापस आ रही है। जैसे टाइम्स नाउ सी वोटर ओपिनियन पोल ने भी एनडीए को 160, यूपीए को 76 और अन्य को 7 सीट दिया है लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि क्या बिहार में एनडीए 2019 लोक सभा चुनाव परिणाम को दोहरा पाएगा?

आइए सबसे पहले देखते हैं लोक सभा चुनाव 2019 के आँकड़े
लोक सभा चुनाव 2019 का रिजल्ट

गठबंधन सीट वोट प्रतिशत
एनडीए 39 54.4
यूपीए 1 31.4
अन्य 0 14.2
टोटल 40 100

एनडीए की तस्वीर सीट और वोट प्रतिशत

बीजेपी 17 24.1
जेडीयू 16 22.3
एलजेपी 6 8.1
टोटल 39 54.4

यूपीए की तस्वीर: सीट और वोट प्रतिशत

आरजेडी 0 15.7
कांग्रेस  1 7.9
आरएलएसपी 0 3.7
हम 0 2.4
वीआईपी 0 1.7
टोटल 1 31.4

लोक सभा चुनाव 2019 के रिजल्ट असेंबली में लीड सभी 243 सीटों पर
एनडीए

बीजेपी 96
जेडीयू 94
एलजेपी 35
टोटल 225

यूपीए

आरजेडी 9 -
कांग्रेस 5 -
हम 2 -
आरएलएसपी 1 -
अन्य (सीपीएम) 1 -

2019 लोक सभा चुनाव में बिहार में एनडीए ने 40 में से 39 सीटें जीता था और वोट प्रतिशत था 54.4% । दूसरी तरफ यूपीए का कुल मिलाकर सफाया हो गया था सिर्फ कांग्रेस को 1 सीट मिली थी हालाँकि वोट मिला था 31.4% । आरजेडी तो अपना खाता तक नहीं खोल पाया।

चौंकाने वाले आँकड़े

लोक सभा रिजल्ट को विधान सभा के लीड के रूप में देखने पर चौंकाने वाले आंकड़े सामने आते हैं:

पहला, लोक सभा के रिजल्ट के हिसाब से एनडीए को 225 विधान सभा सीट पर लीड मिल रहा है। इसका ब्रेक अप है बीजेपी को 96 , जेडयू को 94 और एलजेपी को 35 यानि एनडीए को विधान सभा में 225 सीट मिल सकता है।

दूसरा, चूँकि अबकी बार के बिहार विधान सभा के चुनाव में एलजेपी एनडीए से बाहर हो गया है ऐसी स्थिति में यदि एलजेपी के 35 लीड को घटा दें तो भी एनडीए के खाते में 190 सीट बनता है।

तीसरा, यदि एनडीए में अबकी बार शामिल हम के 2 सीटों पर लीड को जोड़ दें तो एनडीए का 192 सीटों पर लीड बन जाता है।

चौथा, यूपीए को सिर्फ 17 विधान सभा सीटों पर लीड मिल रहा है। इसका मतलब आरजेडी को सिर्फ 9 सीटों पर लीड है और कांग्रेस को मात्र 5 सीटों पर लीड है ।

पाँचवाँ, अन्य यानि सीपीआई (एमएल)(एल)के खाते में सिर्फ 1 सीट पर लीड है।

छठा, ओपिनियन पोल के अनुसार एनडीए को 160, यूपीए को 76 और अन्य को 7 सीट मिल रहा है। इसका मतलब ये हुआ कि एनडीए के 160 और 192 सीटों के बीच बहुत बड़ा फासला नहीं है।

सातवाँ, एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं और दूसरी तरफ राहुल गाँधी और तेजश्वी यादव। अंदाजा लगाया जा सकता है कि एडवांटेज किसके पक्ष में है : एनडीए या यूपीए।

आठवाँ , एक तरफ एनडीए में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं और दूसरी तरफ यूपीए में राहुल गाँधी और तेजश्वी यादव हैं । अंदाजा लगाया जा सकता है कि एडवांटेज किसके पक्ष में है: एनडीए या यूपीए।

आखिर में , ये आंकड़ों पर आधारित प्रेडिक्शन है लेकिन असली रिजल्ट के लिए हमें इंतजार करना होगा नवंबर 10 का जब हमें पता चलेगा कि बिहार में एनडीए 2019 लोक सभा चुनाव परिणाम को दोहरा पाया या नहीं। चलिए तब तक करते हैं इंतज़ार।

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर