प्रशांत किशोर के 30 साल में विकास ना होने वाले बयान पर तेजस्वी का पलटवार, बोले- कौन हैं वो?

Tejashwi Yadav on Prashant Kishor: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के 30 साल में बिहार में विकास ना होने वाले बयान पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने पलटवार किया है।

Tejashwi Yadav on Prashant Kishor statement, says I am not aware of his whereabouts, who is he
तेजस्वी यादव ने दी पीके के बयान पर प्रतिक्रिया 
मुख्य बातें
  • 30 साल में विकास ना होने वाले प्रशांत किशोर के बयान पर तेजस्वी यादव बरसे
  • राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा, कौन हैं वो, कहां रहते हैं
  • प्रशांत किशोर ने कुछ दिन पहले अप्रत्यक्ष रूप से साधा था नीतीश राज और लालू राज पर निशाना

पटना: बिहार में कथित तौर पर पिछले 15 साल में कोई विकास का काम न होने संबंधी प्रशांत किशोर के आरोपों के बारे में अब आरजेडी नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने पलटवार किया है। तेजस्वी यादव ने कहा, 'प्रशांत किशोर के इस बयान का कोई मतलब नहीं है। मुझे उनके ठौर-ठिकाने की कोई जानकारी नहीं है, वह कौन है? वह अब तक कभी भी किसी चीज के फैक्टर नहीं रहे हैं।'

बिहार में लागू नहीं होगा एनआरसी

गौर करने वाली बात ये है कि प्रशांत किशोर ने अपनी राजनीतिक परामर्श कंपनी आईपीएसी के जरिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके कट्टर प्रतिद्वंद्वी लालू प्रसाद दोनों के साथ काम किया है। तेजस्वी यादव ने सीएए-एनआरसी को लेकर भी अपनी प्रतिक्रिया दी और कहा, 'सीएए-एनआरसी पर हमारा स्टैंड स्पष्ट है। हम हमेशा संसद में इसका विरोध करते रहे हैं और मुझे नहीं लगता कि इसे बिहार में कभी भी जल्द ही लागू किया जाएगा' 

PK की पदयात्रा पॉलिटिक्स, बिहार की राजनीति में इनके जैसा कर पाएंगे कमाल

क्या था प्रशांत किशोर ने

कुछ दिन पहले ही प्रशांत किशोर ने घोषणा की थी कि वह अपने गृह राज्य बिहार में विकल्प और बदलाव की सोच वाले लोगों के साथ ‘जन सुराज’ के लिए काम करेंगे। इस दौरान प्रशांत किशोर ने कहा, 'शांत ने कहा, लालू का बिहार में 15 साल राज रहा है और नीतीश का 17 साल। लालू राज के बारे में कहा जाता है कि समाजिक न्याय का दौर था जबकि  नीतीश राज के बारे में कहा गया सुशासन है, विकास हुआ। इन दोनों के 30 साल के शासनकाल के बावजूद बिहार पिछड़ा है।'

प्रशांत किशोर ने कहा था कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मदिन दो अक्टूबर को पश्चिमी चंपारण में गांधी आश्रम से 3000 किलोमीटर की पदयात्रा शुरू करने से पहले वह लगभग 18,000 लोगों से व्यक्तिगत रूप से मिलने की कोशिश करेंगे और उनके साथ अपने ‘जन सुराज’ के दृष्टिकोण को साझा करेंगे।

अभी पार्टी गठन का इरादा नहीं बिहार को समझने के लिए 2 अक्टूबर से करुंगा पदयात्रा- प्रशांत किशोर

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर