शिवानंद तिवारी ने बताया-डिप्टी सीएम पद से आखिर क्यों साफ हुआ सुशील मोदी का पत्ता!

राजद नेता ने शिवानंद तिवारी ने मंगलवार को कहा, 'मेरी सुशील मोदी के साथ कोई शत्रुता नहीं है। वह मेरे छोटे भाई की तरह हैं....लेकिन उनके व्यक्तित्व में एक गहराई की कमी नजर आती है।'

Shivanand Tiwari claims Sushil Modi denied cabinet post as he became 'Nitish Kumar's associate
शिवानंद तिवारी ने बताया-डिप्टी सीएम पद से आखिर क्यों साफ हुआ सुशील मोदी का पत्ता!  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • नीतीश कुमार ने सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, भाजपा से बने दो डिप्टी सीएम
  • इससे पहले नीतीश सरकार में डिप्टी सीएम थे भाजपा नेता सुशील मोदी, इस बार पत्ता कटा
  • राजद नेता ने कहा कि सुशील मोदी भाजपा से ज्यादा नीतीश के सहयोगी के रूप में काम कर रहे थे

पटना (बिहार) : नीतीश कुमार की कैबिनेट में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुशील मोदी को जगह नहीं मिलने पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता शिवानंद तिवारी ने बयान दिया है। तिवारी ने मंगलवार को दावा किया कि सुशील मोदी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सहयोगी बन गए थे और इसी के चलते भाजपा ने उनका कद घटाते हुए उन्हें मंत्री नहीं बनाया। चुनाव में खराब प्रदर्शन करने पर तिवारी कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर भी निशाना साध चुके हैं।

नीतीश से ज्यादा करीबी हुई नुकसानदायक
उन्होंने कहा, 'बिहार में सुशील मोदी की भूमिका भाजपा के लिए कम नीतीश कुमार के सहयोगी के रूप में ज्यादा हो गई थी। मुझे लगता है कि इसीलिए भाजपा ने इस बार उनका कद घटा दिया। वह भाजपा के अन्य नेताओं को बढ़ने का मौका नहीं दे रहे थे। वह रोजाना सभी मु्द्दों पर अपनी बात रख रहे थे। टीवी और न्यूजपेपर में आने के वह आदी बन चुके थे।'

'सुशील मोदी मेरे छोटे भाई की तरह'
राजद नेता ने कहा, 'मेरी सुशील मोदी के साथ कोई शत्रुता नहीं है। वह मेरे छोटे भाई की तरह हैं....लेकिन उनके व्यक्तित्व में एक गहराई की कमी नजर आती है। मुझे लगता है कि भाजपा ने इसी वजह के चलते उन्हें नीतीश कैबिनेट में जगह नहीं दी है।' नीतीश कुमार ने सोमवार को सातवीं बार बिहार के सीएम के रूप में शपथ ली। इससे पहले सुशील मोदी नीतीश सरकार में डिप्टी सीएम थे लेकिन भाजपा ने इस बार तारकिशोर प्रसाद और रेणु कुमार को उप मुख्यमंत्री बनाया है। 

चुनाव में एनडीए हुआ विजयी
तिवारी से यह पूछे जाने पर कि नीतीश के शपथ ग्रहण समारोह में राजद शामिल क्यों नहीं हुआ। इस पर तिवारी ने कहा कि इस चुनाव में एनडीए को महागठबंधन से महज 13,000 वोट ज्यादा मिले। यह 'जोड़-तोड़' की सरकार है। गत मंगलवार को आए चुनाव नतीजों में एनडीए को 125 सीटें और महागठबंधन को 110 सीटें मिलीं। राजद का कहना है कि प्रदेश की जनता का जनादेश उसके साथ है। तेजस्वी यादव की पार्टी ने बैलेट पेपर की गणना में 'धांधली' करने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग की भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं।

राहुल गांधी पर साध चुके हैं निशाना
बिहार चुनाव नतीजों पर तिवारी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर भी निशाना साधा है। तिवारी ने कहा कि कांग्रेस बिहार में 70 सीटों पर चुनाव लड़ी लेकिन उसने 70 सभाएं भी नहीं की। चुनाव प्रचार जब जोरों पर था तब राहुल गांधी शिमला में पिकनिक मना रहे थे। यहां तक कि प्रियंका गांधी चुनाव प्रचार करने नहीं आई। राजद नेता ने कहा कि राहुल को पीएम मोदी से सीखना चाहिए जिन्होंने एक दिन में चार-चार रैलियां कीं।  

 
 

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर