महाराष्ट्र से पटना, दानापुर पहुंचने वाले लोगों की होगी टेस्टिंग, नीतीश सरकार ने बनाई 75 टीम 

Corona cases in Bihar : पीएमसीएच का हेल्पलाइन नंबर 0612-2304104, एनएमसीएच का 0612-2630104 और एम्स पटना का 0612-2451245 है। कोई भी व्यक्ति इन नंबरों पर फोन कर मदद मांग सकता है।

 screening of people arriving from maharashtra at patna danapur stations
महाराष्ट्र से पटना, दानापुर पहुंचने वाले लोगों की होगी टेस्टिंग।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • महाराष्ट्र में बड़ी संख्या में यात्रियों एवं प्रवासी मजदूरों के पहुंचने की उम्मीद
  • इसे देखते हुए नीतीश सरकार ने उठाए एहतियाती कदम, मेडिकल टीमें गठित
  • पटना एवं दानापुर पहुंचने वाले यात्रियों की पहले होगी एंटीजन टेस्टिंग

नई दिल्ली : देश भर में कोरोना के नए मामलों में हो रहे इजाफे के बीच यात्री सहित प्रवासी मजदूर एक बार फिर अपने गृह राज्य की ओर रुख करने लगे हैं। बिहार में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों के पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है। प्रवासी मजदूरों के गृह वापसी को देखते हुए बिहार की नीतीश सरकार सक्रिय हो गई है। सरकार ने पटना पहुंचने वाले मजदूरों की टेस्टिंग के लिए मेडिकल टीमें तैनात की हैं। राज्य में कोरोना के बढ़ते नए मामलों को देखते हुए पटना जिला प्रशासन ने बुधवार को राजधानी के तीन बड़े अस्पतालों में कंट्रोल रूम की स्थापना करने के साथ-साथ हेल्पलाइन नंबर जारी किए। 

तीन बड़े अस्पतालों में नोडल अधिकारी नियुक्त
कोरोना मामले की निगरानी के लिए जिला प्रशासन ने एडीएम रैंक के अधिकारियों को पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (पीएमसीएच) और एम्स पटना में नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसके अलावा पटना सिटी के एसडीओ रैंक के अधिकारी को नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (एनएमसीएच) की निगरानी करने का काम सौंपा गया है। पटना के जिलाधिकारी डॉ. चेंद्रशेखर सिंह ने बताया कि इन अस्पतालों के वरिष्ठ डॉक्टर स्वास्थ्य समन्वयक के रूप में काम करेंगे। 

मदद पाने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी
पीएमसीएच का हेल्पलाइन नंबर 0612-2304104, एनएमसीएच का 0612-2630104 और एम्स पटना का 0612-2451245 है। कोई भी व्यक्ति इन नंबरों पर फोन कर मदद मांग सकता है। जिलाधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र से पटना जंक्शन और दानापुर पहुंचने वाले यात्रियों का 9 अप्रैल से एंटीजन टेस्ट किया जाएगा। जांच में कोरोना से पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों को शहर के अलग-अलग जगहों पर बने क्वरंटाइन सेंटर्स में भेजा जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि यात्रियों की टेस्टिंग एवं स्क्रीनिंग के लिए मेडिकल की 75 टीमों का गठन किया गया है। जरूरत पड़ने पर इसकी संख्या बढ़ाई जा सकती है। 

ब्लॉक स्तर पर भी रखे जाएंगे पॉजिटिव मरीज
जिलाधिकारी का कहना है कि कोरोना से अत्यधिक प्रभावित राज्यों से आने वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों को ब्लॉक स्तर बनाए जा रहे आइसोलेशन केंद्रों पर रखा जाएग। अगले कुछ दिनों में प्रवासी मजदूरों सहित सैकड़ों की संख्या में लोगों के पटना पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने कहा, 'मैंने इन आइसोलेशन केंद्रों को गुरुवार तक तैयार करने के लिए कहा है। संक्रमित मरीजों की देखभाल के लिए इन केंद्रों पर पर्याप्त संख्या में स्वास्थ्यकर्मी एवं स्टॉफ रखे जाएंगे।'

पीएमसीएच जारी करेगा हेल्थ बुलेटिन
इस बीच, पीएमसीएच के कोविड वार्ड में मरीजों की संख्या बढ़कर 55 हो गई है। अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए 100 बेड्स की व्यवस्था है। पीएमसीएच के अधीक्षक डॉक्टर आईएस ठाकुर ने बताया कि राजेंद्र सर्जिकल ब्लॉक के ग्राउंड फ्लोर पर कंट्रोल रूम बनाया गया है। यह कंट्रोल रूम काम करने लगा है। डॉक्टर ठाकुर ने कहा, 'सुबह और शाम के वक्त डिस्प्ले बोर्ड पर मरीजों के बारे में जानकारी देने के लिए हेल्थ बुलेटिन जारी की जाएगी।'  

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर