जमानत जब्त होने की कगार पर खुद को सीएम दावेदार बताने वालीं Pushpam Priya, मिले नोटा से कम वोट

बिहार विधानसभा चुनाव परिणाम में दो सीटों से चुनाव लड़ने वालीं और विदेश से पढ़ाई करने आईं पुष्पम प्रिया चौधरी की हालत बिगड़ती नजर आ रही है। सीएम का उम्मीदवार बताने वाली उम्मीदवार को नोटा से भी कम वोट मिले हैं।

Pushpam Priya Chaudhary
पुष्पम प्रिया चौधरी 

मुख्य बातें

  • बिहार में दो सीटों पर चुनाव लड़ी थीं पुष्पम प्रिया चौधरी
  • बिस्‍फी और बांकीपुर दोनों जगह के चुनावी नतीजों में हाथ लगी निराशा
  • विधानसभा चुनाव में खुद को बताया था मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार

पटना: विदेश से पढ़ाई करने वालीं और बिहार विधानसभा चुनाव में खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बताकर चर्चा में आने वालीं पुष्मप प्रिया को चुनाव परिणाम में निराशा हाथ लगती दिख रही है। बिस्‍फी और बांकीपुर दोनों ही सीटों पर उन्हें गिने चुने वोट ही मिलते नजर आ रहे हैं। बिस्फी सीट पर तो वह नोटा से भी कम वोट हासिल कर पाई हैं। जबकि बांकीपुर विधानसभा सीट पर पुष्पम प्रिया को महज 121 वोट ही हासिल हुए हैं।

बांकीपुर सीट से तीन बार के भाजपा विधायक नितिन नवीन 2,385 वोटों के साथ बढ़त बनाए हुए हैं। इस सीट पर अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे और कांग्रेस प्रत्याशी लव सिन्हा भी पीछे चल रहे हैं। यह रुझान सीट पर 3,860 वोटों की गणना होने तक हैं लेकिन किसी ने सोचा नहीं था कि पुष्पम प्रिया चौधरी की ये हालत हो जाएगी।

अगर बिस्फी सीट की बात करें तो पुष्पम प्रिया को शुरुआती गणना के कुछ घंटे बाद तक सिर्फ 49 वोट मिले। इस सीट पर भाजपा प्रत्याशी हरिभूषण ठाकुर 5,541 वोटों के साथ बढ़त बनाए हुए थे। जबकि राजद प्रत्याशी डॉ. फैयाज अहमद को 3,383 वोट हासिल हुए।

खबर लिखे जाने तक पुष्पम प्रिया को इस सीट पर नोटा से भी कम वोट मिले हैं। बता दें कि नोटा के खाते में 181 से ज्यादा वोट फिलहाल दर्ज किए गए हैं। कुछ समय पहले तक इस सीट पर 9,802 वोटों की गणना हो चुकी थी।

गौरतलब है कि बिहार चुनाव से पहले जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी पुष्पम प्रिया चौधरी ने अखबारों में कई पेज के विज्ञापन देकर खुद को मुख्यमंत्री पद का दावेदार तक घोषित कर दिया था और ऐसी खबरों से सनसनी फैल गई थी। उन्होंने प्लुरल्स नाम की पार्टी का गठन करके कई सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे और खुद दो सीटों से चुनाव लड़ी थीं लेकिन साफ तौर पर दिख रहा है कि वह लोगों पर अपना प्रभाव नहीं छोड़ सकती हैं।

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर