Preparation Before Monsoon: रांची में अधूरे नालों का निर्माण 15 जून तक होंगे पूरे, जलजमाव से बचाव की तैयारी

Preparation Before Monsoon: मानसून अब दस्तक देने ही वाली है। ऐसे में जलजमाव की समस्या से बचाव के लिए नालों और नालियों का निर्माण कराया जा रहा है। हालांकि बहुत सारे नालों एवं नालियों का निर्माण पूरा नहीं हो सका है, जिन्हें अब अगले हफ्ते तक हर हाल में पूरा करने का निर्देश जारी किया गया है। इसके अलावा खतरनाक नाले-नालियों पर रेड रिबन एवं सूचना पट्ट लगाए जाने का निर्देश है।

All drains will be made by June 15
15 जून तक बन जाएंगे सभी नाले  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • अपर नगर आयुक्त ने निगम के अभियंता, सिटी मैनेजर एवं सुपरवाइजरों को जारी किया निर्देश
  • खुले बड़े नालों की बैरिकेडिंग कराई जाएगी, ताकि कोई अनहोनी न हो
  • इंफोर्समेंट टीम शहर के जलजमाव वाले मोहल्ले की जांच करेगी

Preparation Before Monsoon: रांची शहर में मानसून पूर्व तैयारियां पूरी नहीं हुईं हैं। मानसून को दस्तक देने में चंद दिन बचे हैं। इससे पहले सभी अधूरे नालों का निर्माण पूरा कराया जाना नगर निगम के लिए बड़ी चुनौती बन गई है। ऐसे में अपर नगर आयुक्त कुंवर सिंह पाहन ने निगम के अभियंता, सिटी मैनेजर एवं सुपरवाइजरों को 15 जून तक हर हाल में अधूरे नालों एवं नालियों का निर्माण कार्य पूरा कराने के लिए कहा है। निर्माण स्थलों से बांस-बल्ली एवं पटरा हटाने के लिए भी कहा। 

यह नहीं करने पर संबंधित ठेकेदार को नगर निगम में ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा। दरअसल, नगर निगम फंड की कमी से जूझ रहा है। ऐसे में खतरनाक नदी-नालों पर रेड रिबन और नोटिस बोर्ड लगाने के लिए कहा गया है, जिससे लोग सचेत रहें कि आगे खतरा है। 

अतिक्रमणमुक्त होंगी नालियां

अपर नगर आयुक्त का कहना है कि शहर के जलजमाव वाले मोहल्ले की निगम की इंफोर्समेंट टीम को जांच करनी है। अगर, नाले पर कोई भी अतिक्रमण मिलता है तो उसे तत्काल प्रभाव से हटवाया जाए। उधर, ठेकेदारों के मुताबिक किसी भी प्रकार के कंस्ट्रक्शन के लिए बालू की जरूरत होती है, लेकिन बालू की कीमत तीन गुना हो गई है। ऐसे में हम अधूरे नालों का निर्माण 15 जून तक कैसे पूरा करेंगे?

आधा दर्जन इलाके चिह्नित

रांची शहर में आधा दर्जन इलाके चिह्नित किए गए हैं, जहां ज्यादा जलजमाव होगा। इन इलाकों में नगर निगम की टीम को विशेष तौर पर सक्रिय रहने को कहा गया है। यह वही इलाके हैं, जहां पिछले कई साल से जलजमाव हो रहा है। इन क्षेत्र में कई पुराने मोहल्ले हैं, जहां का ड्रेनेज सिस्टम ऊंचा और मोहल्ले नीचे हैं। इस वजह से बरसात के पानी की समुचित निकासी नहीं हो पाती है। यहां नगर निगम की टीम 24 घंटे काम करेगी।  

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर