Patna Isolation Center: कोरोना से लड़ने को फिर से तैयार हो रहा पटना, कोविड मरीजों के लिए बनेगा आइसोलेशन सेंटर

Patna Isolation Center: कोरोना वायरस का संक्रमण एक बार फिर बढ़ने लगा है। इससे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की चिंता बढ़ी हुई है। संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए एहतियाती कदम फिर उठाए जाने लगे हैं। इसी क्रम में पटना में फिर आइसोलेशन सेंटर बनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त धावा दल का भी गठन किया जाएगा।

Isolation center will start again in Patna from tomorrow
पटना में कल से फिर चालू होगा आइसोलेशन सेंटर  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • पटना में कोरोना के सबसे अधिक 569 एक्टिव मरीज
  • राजधानी में संक्रमण की पॉजिटिविटी रेट 1.35 प्रतिशत पहुंची
  • शहर के हर इलाके में मिलने लगे हैं कोरोना संक्रमित

Patna Isolation Center: पटना फिर कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहा है। यहां के हर इलाके में नए मरीज मिल रहे हैं। बुधवार को शहर में 102 नए संक्रमित सामने आए। इसके बाद यहां सक्रिय रोगियों की संख्या 569 हो गई है। यहां सबसे अधिक मरीज हैं। शहर में संक्रमण की दर 1.35 प्रतिशत पहुंच चुकी है। बुधवार को पीएमसीएच में एक डॉक्टर, एक स्टाफ और दो कर्मचारी कोरोना संक्रमित मिले।  

कोरोना संक्रमण की वापसी के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने पटना सिटी स्थित कंगन घाट पर 200 बेड का आइसोलेशन सेंटर फिर शुरू करने का निर्णय लिया है। इस बारे में जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह का कहना है कि कंगन घाट स्थित पर्यटक सुविधा केंद्र में बहुत जल्द आइसोलेशन सेंटर चालू कर दिया जाएगा। 

आइसोलेशन सेंटर में 100 बेड की रहेगी व्यवस्था

कंगन घाट पर आइसोलेशन सेंटर शुक्रवार से चालू कर दिया जाएगा। फिलहाल यहां 100 बेड की व्यवस्था रहेगी। जिन मरीज को घर में परेशानी रहेगी, उनके लिए यह आइसोलेशन सेंटर रहेगा। इस सेंटर पर संक्रमित के लिए भोजन, दवा, ऑक्सीजन समेत तमाम सुविधाएं रहेंगी। डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ 24 घंटे प्रतिनियुक्त रहेंगे। 

धावा दल बताएगा मास्क का महत्व

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने सभी सिविल सर्जन के साथ बैठक कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जरूरी उपाय करने के निर्देश दिए। लोगों को मास्क का महत्व बताने के लिए जिला प्रशासन के स्तर पर पहले की तरह धावा दल बनने के लिए कहा। पटना सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह ने चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि ओपीडी में बिना मास्क पहने आए मरीजों को टोकें। 

लक्षण या शक होने पर पांच दिन नहीं निकलें बाहर

बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर पटना एम्स के कोरोना नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने लोगों से अपील की है। इन्होंने कहा कि कोरोना के लक्षण होने या शक होने पर कम से कम पांच दिन अपने कमरे से बाहर नहीं निकलें। घर में भी सबसे अलग रहें, जिससे कोई और संक्रमित न हो। कहा कि कोवैक्सीन और कोविशिल्ड के दोनों डोज जरूर लगाएं। जिन्होंने दोनों डोज लगवा ली है, वो प्रिकॉशन डोज लगवाएं। 

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर