Patna Fraud Case: वन विभाग की बना दी फर्जी वेबसाइट, कई पदों की निकाली भर्ती और रिजल्ट, एफआईआर दर्ज

Patna Cyber Crime: पटना में साइबर बदमाशों की करतूत सामने आई है। वन विभाग की फर्जी वेबसाइट बनाकर वैकेंसी और रिजल्ट भी जारी कर दिए हैं। विभाग के अधिकारी ने मामला दर्ज कराया है।

patna crime news
पटना में वन विभाग की फर्जी वेबसाइट बना धोखाधड़ी का प्रयास, मामला दर्ज  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • साइबर बदमाशों ने पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन विभाग की बनाई फर्जी वेबसाइट
  • कई पदों की वैकेंसी की जानकारी के साथ रिजल्ट भी डाल दिया वेबसाइट पर
  • पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की जांच

Patna News: साइबर अपराधियों ने बिहार सरकार के पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन विभाग का फर्जी बेवसाइट बना ली है। साथ ही इस बेवसाइट पर पूर्व मंत्री नीरज कुमार बबलू का फोटो भी लगा दिखाई दे रहा है। यह सारा काम शातिर जालसाजों का है। इन लोगों ने उक्त फर्जी बेवसाइट पर कई पदों के लिए वैकेंसी की जानकारी देने के साथ ही कई परीक्षाओं का रिजल्ट भी डाल दिया है। मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है।

बता दें कि किसी भी तरह की न तो कोई वैकेंसी वन विभाग से निकाली गई और न ही परिणाम जारी किया गया है। यह वेबसाइट एक तरह से छात्रों से ठगी करने के लिए बना दी गई है। इस मामले के सामने आने के बाद विभाग के मुख्य वन संरक्षक ने एयरपोर्ट थाने में अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है।

विभाग की ओर से जारी किया गया ऑफिशियल यूआरएल

मिली जानकारी के अनुसार विभाग के अधिकारी की ओर से दी गई लिखित शिकायत में कई तरह की जानकारी दी गई है। वह यह कि बिहार सरकारी के पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन विभाग का अधिकारिक वेबसाइट का अधिकृत यूआरएल http//state.bihar.gov.in और http//forestonline.bihar.gov.in है। जबकि फर्जी बनाई गई वेबसाइट का यूआरएल http//forest.bih.nic.resultgov.co.in है। एयरपोर्ट थानाध्यक्ष विनोद पीटर ने मामला दर्ज किए जाने की पुष्टि करते हुए बताया है कि, प्रकरण की जांच की जा रही है।

छात्रों को ऐसे बनाते हैं शिकार

जानकारी के लिए बता दें कि जालसाज इससे पहले पटना हाईकोर्ट की भी फर्जी वेबसाइट बना चुके हैं। यह फर्जी वेबसाइट जालसाजों इसलिए बनाते हैं ताकि छात्रों से नौकरी के नाम पर लाखों की ठगी को अंजाम दे सकें। पहले ये लोग किसी पद के लिए भर्ती की डिटेल डालते हैं और छात्रों से आवेदन मंगवाते हैं। आवेदन में दिए गए नंबर पर जालसाज संपर्क किया करते हैं और उक्त पद पर नौकरी लगवाने का दावा कर भारी भरकम पैसे की डिमांड करते हैं। साथ ही परीक्षा के रिजल्ट को भी फर्जी वेबसाइट पर प्रकाशित कर देते हैं, ताकि पैसे लेने में उन्हें कोई परेशानी न हो। बता दें कि, छात्र इसमें पूरी तरह फंस जाते हैं और रकम दे देते हैं। लेकिन जब नियुक्ति पत्र लेकर संबंधित विभाग में जाते हैं तो उन्हें फ्रॉड की जानकारी मिलती है।

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर