Patna Cyber Fraud: पटना के साइबर ठगों का फिल्मी अंदाज, पुलिस को ऑफर-'ब्लैंक चेक देते हैं, हमें छोड़ दीजिए'

Patna Cyber Fraud Arrested: राजधानी साइबर ठगों का हब बन गई है। हर दिन साइबर ठग पकड़े जा रहे हैं। अब गिरफ्तार दो साइबर ठगों ने पुलिस को खुली रिश्वत ऑफर कर दी है। वह भी ब्लैंक चेक देकर।

Cyber ​​thugs offered blank check to police in Patna
पटना में साइबर ठगों ने पुलिस को ऑफर किया ब्लैंक चेक  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • शहर के जलेश्वर महादेव मंदिर के पास से गिरफ्तार किए गए दो साइबर ठग
  • दोनों ग्रेजुएट, 75 हजार रुपए, 16 एटीएम कार्ड, दो डायरी और एक बाइक जब्त
  • थानेदार को कहा, 30-40 लाख जितना बोलिए, दे देंगे

Patna Police: पटना से देशभर में साइबर ठगी हो रही है। हाल में गिरफ्तार साइबर ठगों ने ही यह खुलासा किया है। साइबर ठगों की गिरफ्तारी से यह भी स्पष्ट हो गया कि ये लोग दूसरे की रकम लूटकर करोड़ों की संपत्ति बना रहे हैं। इनकी कमाई इतनी है कि अब ये थानेदार को खुली रिश्वत ऑफर कर रहे हैं। कह रहे हैं कि ब्लैंक चेक देंगे, जितना पैसा भर लीजिए और हमें छोड़ दीजिए। 

दरअसल, पत्रकार नगर थाने की पुलिस ने जलेश्वर महादेव मंदिर के पास से दो साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान नालंदा जिले के मानपुर निवासी जितेंद्र कुमार और अस्थावां थाना क्षेत्र निवासी संजीव के रूप में हुई है। दोनों ग्रेजुएट हैं। पुलिस ने इनके कब्जे से 75 हजार रुपए, 16 एटीएम कार्ड, दो डायरी और एक बाइक बरामद की है। 

डायरी में ठगी और खर्च का हिसाब-किताब

थानेदार मनोरंजन भारती को ठगों ने कहा कि सर हमें छोड़ दीजिए। कभी जेल नहीं गए हैं। 20 लाख, 30 लाख, 40 लाख जितना बोलिए देंगे। ब्लैंक चेक दे देते हैं। हालांकि ये फिल्मी ऑफर थानेदार ने ठुकरा दिया। थानेदार का कहना है कि इस मामले में जल्द और लोगों की गिरफ्तारी की जाएगी। इसके लिए छापेमारी की जा रही है। बताया कि यह दोनों डायरी में ठगी और खर्च का हिसाब-किताब लिखते हैं। दूसरी डायरी में बैंक अकाउंट नंबर, आईएफएससी नंबर और बैंकों का एमपिन लिखा हुआ है। 

5 अगस्त को अलग-अलग जगहों से 5.50 लाख की ठगी

पुलिस का कहना है कि इन दोनों ने 5 अगस्त को देश के अलग-अलग हिस्सों से 5.50 लाख रुपए की ठगी की है। गिरोह में आठ सदस्य हैं। नवादा के आनंद के लिए गिरोह काम करता है। एक महीने में गिरोह की कमाई डेढ़ से दो करोड़ रुपए है। इनसे 300 से अधिक बैंक अकाउंट की जानकारी मिली है। ये खाते अहमदाबाद, पुणे, बेंगलुरु समेत देश के अलग-अलग राज्यों में स्थित बैंकों के हैं। दोनों साइबर ठगों ने कहा कि मौज-मस्ती के लिए पटना में रहकर साइबर ठगी करते हैं। हमलोग यही काम नालंदा और नवादा के गांवों में रहकर भी करते हैं। पुलिस का कहना है कि इन दोनों ने अपने फ्लैट में तमाम सुविधाएं रखी हैं।

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर