Murder in Patna: पटना में अपराध बेलगाम, घर में घुसकर बेकरी कारोबारी की पत्नी और सास की हत्या-लूटपाट

Patna Crime: राजधानी में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। हत्याओं का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब सोमवार की देर रात शहर में दो महिलाओं की हत्या कर दी गई। घर में घुसकर महिलाओं की हत्या को अंजाम दिया गया है। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

Panic over double murder in Patna
पटना में डबल मर्डर से दहशत  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र के उफरपुर स्थित सबरी नगर की घटना
  • एक महिला ने मौके पर और दूसरे ने अस्पताल में तोड़ा दम
  • राजधानी में अपराधियों के हौसले बुलंद, थमने का नाम नहीं ले रहा हत्याओं का दौर

Murder in Patna: राजधानी में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। हत्याओं का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार की देर रात अपराधियों ने लूटपाट के लिए घर में घुसकर मां-बेटी की हत्या कर दी। इसके बाद 60 हजार रुपए और छह लाख का गहना लेकर फरार हो गए। घटना सोमवार की देर रात फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र के उफरपुर स्थित सबरी नगर की है। यहां धारदार हथियार से 80 साल की मंती देवी और इनकी बेटी 50 वर्षीय पूनम झा की हत्या कर दी गई। दरअसल, तीन मंजिला मकान में विभाष चंद्र झा बेकरी एवं कंफेक्शनरी की फैक्ट्री चलाते हैं। नीचे गोदाम है और दो फ्लोर पर उनका परिवार रहता है।

घटना के वक्त विभाष चंद्र जमाल रोड गए हुए थे। घर में पूनम और मंती देवी थीं। वारदात को अंजाम देकर अपराधी सीसीटीवी का डीवीआर उखाड़कर ले गए। घटना के संबंध में विभाष चंद्र को पड़ोसी ने फोन करके सूचना दी। इसके बाद वह अपने घर पहुंचे। लोगों की सूचना पर फुलवारीशरीफ थानेदार एकरार अहमद खान ने घटनास्थल की जांच की। कारोबारी मूलरूप से भागलपुर जिले के सुल्तानगंज के रहने वाले हैं। इनका एक बेटा गुरुग्राम में एक एयरलाइंस में इंजीनियर है। बताया जाता है कि अपराधी ग्राहक बनकर घर में दाखिल हुए थे। घर का दरवाजा खुलते ही अपराधियों ने मंती और पूनम को कब्जे में लेकर लूटपाट करनी चाहिए। जब मां-बेटी ने विरोध किया तो उनकी हत्या कर दी। 

वृद्धा के सिर और शरीर पर गहरे जख्म

कारोबारी झा का कहना है कि जब वह घर पहुंचे तो उनकी सास और पत्नी खून से लथपथ जमीन पर गिरे हुए थे। सास के सिर और शरीर के कई हिस्सों में गहरे जख्म थे। सास की मौत हो चुकी थी, जबकि पत्नी की सांसें चल रहीं थीं। वह उन्हें पारस अस्पताल लेकर गए, जहां उनकी मौत हो गई। 

पुलिस बोली-किसी परिचित का ही हाथ

घटना के बाबत पुलिस का कहना है कि वारदात को अंजाम देने वाले कारोबारी के परिचित ही थे। चूंकि अपराधियों को यह भी पता था कि सीसीटीवी कैमरे कहां-कहां लगे हुए हैं। उसका डीवीआर लगा है, तभी वह डीवीआर उखाड़कर ले गए। अपराधियों को यह भी मालूम था कि कारोबारी झा कब घर पर रहते हैं और कब नहीं रहते हैं।

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर