पटना में आग का गोला बनी नाव, हुआ ऐसा धमाका कि नदी में कूद कर जान तक नहीं बचा पाए लोग, जिंदा जल गए चार लोग

Patna News: पटना में नदी में एक नाव पर सिलेंडर फटने से चार लोगों की मौत हो गई। धमाका इतना तेज हुआ कि किसी को पानी में कूदने तक का मौका नहीं मिला। इससे घाट पर भी अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने फोन करके पुलिस को सूचना दी।

4 burnt alive due to cylinder explosion on boat in Patna
पटना में नाव पर सिलेंडर फटने से 4 जिंदा जले  |  तस्वीर साभार: Facebook
मुख्य बातें
  • मनेर के रामपुर पतीला घाट पर हुआ हादसा
  • अग्निशमन दस्ते ने घटनास्थल पर पहुंचकर किया बचाव कार्य
  • मरने वालों में एक झारखंड एवं अन्य स्थानीय लोग

Patna boat blast: शहर के मनेर इलाके में गंगा नदी में नाव पर खाना बनाने के दौरान सिलेंडर फटने से चार मजदूरों की मौत हो गई। मरने वालों में एक शख्स  झारखंड का रहने वाला है। जबकि तीन लोग स्थानीय हैं। घटना शनिवार की सुबह मनेर के रामपुर पतीला घाट पर हुई। सिलेंडर फटने पर नाव में आग लगने से घाट पर अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने फोन कर पुलिस को सूचना दी। 

मनेर पुलिस ने चार लोगों की मौत की पुष्टि कर दी है। हादसे में कुछ अन्य मजदूर झुलसे हैं। लोगों का कहना है कि नदी से बालू का अवैध खनन कर काफी संख्या में नावों से ढुलाई होती है। इन नावों पर ही मजदूर खाना बनाते और खाते हैं। शनिवार को भी गैस सिलेंडर पर खाना बनाते वक्त अचानक आग लगी और सिलेंडर ब्लास्ट हो गया। 

दूसरी नाव पर सवार लोग भी सहमे 

नाव पर सिलेंडर फटने के बाद इतना तेज धमाका हुआ कि दूसरी नाव पर सवार लोग सहम गए। आग की लपटें देखकर घाट किनारे खड़े लोग भी भयभीत हो गए। आस-पास के अलावा पड़ोसी गांव के लोगों की भीड़ घाट पर लग गई। ग्रामीणों का कहना है कि सिलेंडर फटने के बाद ऐसा नजारा बना जैसे कई बम फोड़ दिए गए हो। काफी तेज धमाके की आवाज थी। कुछ बच्चे घाट किनारे थे, जो बिल्कुल डर गए। 

इनकी गई जान

नाव पर सिलेंडर फटने के कारण 32 वर्षीय रंजन पासवान , 32 वर्षीय दशरथ पासवान , 34 वर्षीय ओमप्रकाश राय और 40 वर्षीय कन्हाई बिंद की जान चली गई। कन्हाई झारखंड के साहेबगंज जिला अंतर्गत शोभनपुर के रहने वाले थे। अन्य सभी हल्दी छपरा के निवासी थे। ग्रामीणों का कहना है कि नदी से 12 महीनों बालू का अवैध खनन होता है। एनजीटी के रोक के बाद भी बरसात के मौसम में अवैध बालू खनन जारी है। पुलिस-प्रशासन अवैध खनन रोकने में विफल है। कई बार औपचारिकता के लिए अवैध खनन में लगी एक-दो नाव पकड़ी जाती है। लेकिन कोई कठोर कदम प्रसाशन की और से नहीं लिया जाता , यही कारण है इतना बड़ा हादसा हुआ है।

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर