Patna News: मलेशिया से ठगी की ट्रेनिंग लेकर आया, भारत में सैकड़ों को चूना लगाया, पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार

Patna Crime News: मलेशिया से ठगी की ट्रेनिंग लेकर भारत आए एक शख्स को बिहार के पटना एयरपोर्ट पर उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है।

cyber crime accused arrested in patna
साइबर ठगी का आरोपी पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार (Source: Pixabay)  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • मलेशिया से ठगी की ट्रेनिंग लेकर भारत आए शख्स ने सैकड़ों को लगाया चूना
  • पटना एयरपोर्ट से पुलिस ने उसके गैंग सहित उसे किया गिरफ्तार
  • ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों को बनाता था अपना इजी टार्गेट

नई दिल्ली : मलेशिया से ठगी की ट्रेनिंग लेकर भारत आए एक शख्स को बिहार के पटना एयरपोर्ट पर उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के साथ पूछताछ में उसने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि उसने भारत में अब तक सैकड़ों लोगों के साथ ठगी की है। टेक्नोलॉजी के विकास के साथ-साथ लोगों के अपराध को अंजाम देने की तरीकों में भी बदलाव आया है।

अब अपराधी भी हाईटेक हो गए हैं। जिस तरह से लोग डॉक्टरी और इंजीनियरिंग और तमाम तरह के पेशेवर विषयों की पढ़ाई विदेशों से करते हैं उसी प्रकार से अब ऐसा लगता है कि अपराध को अंजाम देने के लिए भी विदेशों का सहारा ले रहे हैं। ताजा मामला इसी बात का सबूत है। पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार हुए कुणाल का किस्सा कुछ इसी तरह का है। 

बेहद साफगोई से करता था ठगी का धंधा

आपको जानकर हैरानी होगी कि कुणाल की उम्र महज 19 साल है इसने उच्च शिक्षा में अपने कदम बढ़ाने की बजाए अपराध की दुनिया की तरफ अपने कदम बढ़ा लिए। इसने साइबर क्राइम में अपना मन रमा लिया और फिर इसने साइबर क्राइम में ऐसी ट्रेनिंग ली कि अच्छे-अच्छे भी इसे पकड़ ना पाएं। मलेशिया से साइबर ठगी के धंधे की ट्रेनिंग लेने के बाद कुणाल भारत आया और यहां पर बेहद साफगोई से उसने करीब सैकड़ों लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया।

पटना एयरपोर्ट से गिरफ्तार

बेहद सफाई से लोगों को अकाउंट साफ करता गया और वह किसी की नजर में आने से भी बचता रहा। लेकिन वो कहते हैं ना कि कानून के हाथ बहुत लंबे होते हैं, अपराधी चाहे कितना भी शातिर क्यों ना हो, पुलिस के हाथ से बच नहीं पाता, और कुणाल के साथ भी यही हुआ। कुणाल को पटना एयरपोर्ट से उसके गैंग सहित गिरफ्तार कर लिया गया।

ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले होते थे इजी टार्गेट

उसने बताया कि जयपुर में बैठकर वह मुंबई, दिल्ली और बेंगलुरु सहित अन्य कई शहरों से लोगों के अकाउंट पर हाथ मारता रहा। खास तौर पर ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों के अकाउंट को अपना टार्गेट बनाता था। पुलिस की जांच में पता चला है कि पटना का एक युवक भी कुणाल की गैंग में शामिल था। पुलिस अब उन्हें जेल की सलाखों के पीछे भेजने की तैयारी कर रही है।

जांच में पता चला है कि उसने टेलीग्राम पर एक ग्रुप बनाए हैं जिसमें कई अन्य लोग जुड़े हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक उस ग्रुप में कुछ विदेशी ठग भी शामिल हैं। पुलिस हर एंगल से इस मामले की जांच कर रही है। 

अगली खबर